• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Women Preparing Eco friendly Diyas Of Cow Dung For Deepawali, Will Also Spread The Smell Of Havan Along With The Light

स्वावलंबन के साथ पर्यावरण संरक्षण:दीपावली के लिए गोबर के ईकोफ्रेंडली दीये तैयार कर रहीं महिलाएं, प्रकाश के साथ हवन की महक भी बिखेरेंगे

सागर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विचार समिति द्वारा बनवाए जा रहे गोबर के दीये, 750 महिलाएं अब तक 6.50 लाख दीया का निर्माण कर चुकी हैं

गाय के गोबर से तैयार होने वाले दीयों की बाजार में बहुत मांग बढ़ रही है। इसका मुख्य कारण है कि ये दीये प्राकृतिक होने के साथ-साथ बाद में इनका अपशिष्ट शेष नहीं होता, बल्कि गमलों में यह खाद के रूप में उपयोग किया जा सकता है। यह बात रविवार को पत्रकारवार्ता में विचार समिति के संस्थापक अध्यक्ष कपिल मलैया ने कही। उन्होंने बताया समिति दो वर्ष से गोमय उत्पाद पर कार्य कर रही है। 750 महिलाएं 6.50 लाख से अधिक गोबर के दीयों का निर्माण कर चुकी हैं। इस वर्ष के दीयों की खासियत यह है कि यह दीया गोबर से बने होने के बावजूद आग नहीं पकड़ते हैं इसलिए ये पूर्णतः सुरक्षित हैं। ये पानी में तैर सकते हैं और औसतन 45 मिनट से सवा घंटे तक जलते हैं एवं बहुत सुंदर हैं।

उन्होंने कहा शास्त्रों के मुताबिक गौमाता के गोबर में लक्ष्मीजी का वास होता है। दीवाली पर घरों को रोशन करने के लिए जलाए जाने वाले मिट्टी के दीयों के स्थान पर इस बार गोबर के दीयों से घर-आंगन रोशन होंगे। रंग-बिरंगे गोबर के ये दीये पहली बार बाजार में आ भी गए हैं। इस दीपक के जलने से घर में हवन की खुशबू महकेगी। जो घर के वातावरण को, पटाखों की गैस को कम करने में सहायक होगी। दीयों को दीपावली में उपयोग करने के बाद जैविक खाद बनाने में उपयोग में लाया जा सकता है। इसके अवशेष को गमला या किचन गार्डन में भी उपयोग किया जा सकता है इसलिए गोबर के दीये ईको फ्रेंडली हैं। हम इन उत्पादों को बनाने में आत्मनिर्भर हो चुके हैं। महिलाओं को घर बैठकर गोबर से विभिन्न उत्पाद बनाने का प्रशिक्षण समिति द्वारा दिया गया महिलाओं ने भी रुचि के साथ इस कार्य को सीखा। इन उत्पादों के माध्यम से महिलाएं आर्थिक स्वालंबन की ओर आगे बढ़ेंगी, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। सभी दीये पर बेस कलर के बाद कलाकृतियां उकेरी जाती हैं। सभी महिलाओं को दीयों के अनुसार भुगतान किया जाता है। रंग-बिरंगे दीये पैकिंग करके तैयार किए जा रहे हैं। गोमय आधारित रंग-बिरंगे दीये ऑफलाइन एवं ऑनलाइन दोनों माध्यम से प्राप्त किए जा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...