पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीके का टोटा:11.05 लाख लोगों को लगना है वैक्सीन, अब तक सिर्फ 2.95 लाख को लगी, 3 दिन से सेंटर्स बंद

टीकमगढ़14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टीकमगढ़| वैक्सीनेशन के लिए तीन दिन पहले तक सेंटर्स पर इस तरह से उमड़ रही थी लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
टीकमगढ़| वैक्सीनेशन के लिए तीन दिन पहले तक सेंटर्स पर इस तरह से उमड़ रही थी लोगों की भीड़।
  • अगर 25 हजार डोज नहीं मिले तो एक सप्ताह तक बंद रह सकते हैं सेंटर

जिले में कुल 11 लाख 5 हजार लोगों को शासन द्वारा वैक्सीनेशन के लिए चिह्नित किया गया है, जिनमें से अब तक सिर्फ 2 लाख 95 हजार लोगों को ही वैक्सीन लग पाई है। वहीं पिछले तीन दिन से एक भी वैक्सीनेशन सेंटर पर वैक्सीन नहीं लगाई जा रही है। लोग वैक्सीन के लिए सेंटर के चक्कर काट रहे हैं। सेंटर या तो बंद मिल रहे हैं या वहां मौजूद कर्मचारी एक सप्ताह बाद वैक्सीन लगने की बात कह रहे हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग शासन से वैक्सीन की लगातार मांग कर रहा है। ऐसे में लोगों को कोरोना का डर सताने लगा है। अगर वैक्सीन नहीं मिली तो एक सप्ताह तक सेंटर बंद रह सकते हैं।

दरअसल जिले में पिछले दो सप्ताह से वैक्सीनेशन उत्साह के साथ किया जा रहा था। लोग महाअभियान से जुड़कर वैक्सीन लगवाने के लिए आगे आ रहे थे। ऐसे में सेंटरों पर बड़ी संख्या में भीड़ भी देखने को मिल रही थी, लेकिन अब वैक्सीन खत्म होने से जिले में वैक्सीनेशन प्रक्रिया को बंद कर दिया गया है। यह स्थिति जिले में वैक्सीन आने पर ब्रेक लगने से बनी हुई है।

जिसके इंतजार में स्वास्थ्य विभाग बैठा है। अगर ऐसा ही रहा तो जिले में 100 फीसदी वैक्सीनेशन के पहले ही कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। इसके परिणाम शासन प्रशासन को भुगतने होंगे। जिसको नजर अंदाज किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि 16 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू हुआ है। 14 जुलाई तक दो लाख 95 हजार 62 लोगों काे पहला डोज दिया जा चुका है।

वैक्सीन मिलते ही सेंटर्स पर टीकाकरण शुरू करेंगे
^जिले में वैक्सीन की कमी के चलते वैक्सीनेशन बंद है। जैसे ही वैक्सीन उपलब्ध होगी तो तुरंत ही वैक्सीनेशन को शुरूकर दिया जाएगा। इस बार ज्यादा डोज की मांग की जा रही है। जिससे सेंटर पर कमी न पड़े।
- पीके माहौर, प्रभारी सीएमएचओ

सिर्फ 53 हजार लोगों ने लगवाया दूसरा डोज
वैक्सीनेशन को लेकर लोगों के बीच असमंजस की स्थिति बनी रही। पहला डोज लगवाने वाले लोग दूसरा डाेज लगवाने में कतराते रहे। जिससे जिले में 53 हजार 460 लोगों ने ही वैक्सीनेशन पूरा कराया है। दूसरे डोज की संख्या बढ़े इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने सिर्फ दूसरा डोज लगवाने वालों के लिए सेंटर को चालू रखा। जिस पर कुछ लोगों ने रूचि ली, लेकिन अभी ग्रामीण क्षेत्र में लोग वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने में रूचि नहीं ले रहे हैं।

तीन दिन से बंद हैं वैक्सीनेशन सेंटर
जिले में पिछले तीन दिन से वैक्सीनेशन सेंटर बंद हैं। वैक्सीन खत्म होने से वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी हो गई है। अब स्वास्थ्य विभाग वैक्सीनेशन शुरू कराने की जुगत में है। विभाग ने शासन से 25 हजार डोज की मांग की है। अगर यह डोज मिलते हैं तो वैक्सीनेशन की प्रकिया काे फिर से शुरू कर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...