पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना से सुरक्षा:जिला अस्पताल में 12 बेड का कोविड आईसीयू वार्ड 4 महीने बाद भी अधूरा, मशीनें इंस्ट्राल रखी

टीकमगढ़11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मरीजों को नहीं मिल पा रही वेंटिलेटर की सुविधा
  • ठंड के मौसम में कोरोना की रफ्तार बढ़ सकती है

टीकमगढ़ जिले में कोेरोना संक्रमण की चेन फिलहाल टूटते नजर नहीं आ रही है। जिले में अब तक कोविड मरीजों का आंकड़ा 950 के पार जा चुका है। जानकारों की मानें तो आने वाले ठंड के मौसम में कोरोना की रफ्तार बढ़ सकती है। जिसके चलते कोविड आईसीयू वार्ड होना बहुत जरूरी है।

वर्तमान में वेंटिलेटर की सुविधा न होने के चलते गंभीर कोविड मरीजों को भोपाल और सागर रैफर किया जा रहा है। जिले में जिस तरह से जुलाई और सितंबर में दो बार कोरोना पीक पर आया था, अगर उसी तरह अक्टूबर व नवंबर के महीने में पीक पर रहा, तो निश्चित ही आईसीयू वार्ड की जरूरत पड़ेगी।

कोविड मरीजों के लिए आईसीयू वार्ड न होने से अभी तक वेंटीलेटर भी उपयोग नहीं हो पाएं हैं। जबकि 5 वेंटीलेटर जिला अस्पताल में इस समय उपलब्ध हैं। इन वेंटीलेटरों को चलाने के लिए ट्रेंड स्टॉफ की कमी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त संचालक सागर ने आईसीयू वार्ड तैयार होते ही ट्रेंड स्टाॅफ उपलब्ध करवाने की बात कही है।

सिविल सर्जन डॉ. अमित चौधरी ने बताया कि कोविड आईसीयू वार्ड का शनिवार को भोपाल और सागर से आए इंजीनियरों ने निरीक्षण किया। जिसमें एक दो प्वाइंटों पर ऑक्सीजन सप्लाई में लीकेज की समस्या दिखी। उन्होंने बताया कि आईसीयू वार्ड का सिविल वर्क पूरा हो चुका है।

वार्ड में लगने वाली मशीनें भी इंस्ट्राल रखी हुई हैं। जिन्हें जल्दी ही वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाएगा। डॉ. चौधरी का कहना है कि एक-दो दिन की टेंस्टिंग का काम पूरा होते ही वार्ड हैंडओवर हो जाएगा। इसके बाद मरीजों को शिफ्ट किया जा सकेगा।

950 तक पहुंचा मरीजों का आंकड़ा: जिले में कोरोना संक्रमण के आंकड़ों को देखें तो 16 अक्टूबर तक जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 950 के करीब पहुंच गई है। वहीं एक्टिव केस करीब 44 हैं और 878 स्वस्थ्य होकर घर जा चुके हैं। इसके अलावा जिले में 32 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। जिनमें 27 लोगों के सैंपल जिले में ही लिए गए और 5 अन्य लोगों के सैंपल जिले के बाहर लिए गए थे। जिनकी कोरोना से मौत हुई है।

विधायक ने ठेकेदार को फटकारा

18 लाख रुपए की लागत से बनने वाले 12 बेड के आईसीयू वार्ड का भूमिपूजन 29 जून को टीकमगढ़ विधायक राकेश गिरि ने किया था। उस समय स्वास्थ्य विभाग ने दावा किया था कि एक महीने के अंदर कोविड मरीजों के लिए आधुनिक आईसीयू वार्ड तैयार कर लिया जाएगा।

जिससे गंभीर मरीजों को वेंटीलेटर की सुविधा जिला अस्पताल में ही मिल सकेगी, लेकिन अभी तक आईसीयू वार्ड तैयार नहीं हो पाया है। विधायक गिरि का कहना है कि कोविड आईसीयू वार्ड अब तक तैयार न होना गंभीर लापरवाही है। इस मामले में कुछ दिन पहले भी कलेक्टर सुभाष कुमार द्विवेदी से चर्चा हुई थी।

जिसके बाद उन्होंने ठेकेदार को फटकार लगाते हुए काम जल्दी पूरा करने की बात कही थी। बावजूद इसके अब तक काम पूरा न हो पाना गंभीर है। जल्दी आईसीयू वार्ड तैयार कर शुरू करने के लिए कलेक्टर से चर्चा करेंगे।

कलेक्टर ने कहा- जल्द शुरू होगा आईसीयू वार्ड

जुलाई महीने में बनकर तैयार होने वाले आईसीयू वार्ड में ठेकेदार द्वारा विलंब किया गया है। जिसके चलते उसे कई बार फटकार भी लगाई है। फिलहाल वार्ड का काम पूरा हो चुका है। वार्ड में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर कुछ कमियां है।

जिसे जल्दी ही दुरस्त कर आईसीयू वार्ड को शुरू करवाया जाएगा। शनिवार को आईसीयू वार्ड का सागर और भोपाल से आए इंजीनियरों ने मुआयना किया है। तकनीकी कमियों को खत्म कर एक दो दिन में कोविड आईसीयू वार्ड हैंडओवर हो जाएगा। वहीं स्वास्थ्य विभाग सागर के संयुक्त संचालक ने ट्रेंड स्टाॅफ को टीकमगढ़ में भेजने की बात कही है। जिससे आईसीयू वार्ड का संचालन शुरू किया जा सके।

-सुभाष कुमार द्विवेदी, कलेक्टर टीकमगढ़

मामले बढ़े तो आएगी दिक्क्त

स्वास्थ्य विभाग से जुड़े जानकारों ने बताया कि ठंड के मौसम में कोरोना एक बार फिर जुलाई और सितंबर जैसी रफ्तार पकड़ सकता है। ऐसे में लोगों को सावधानी रखना होगी। अनलॉक-5 की गाइड लाइन के अनुसार अधिकांश संस्थानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है। जिससे निश्चित ही संक्रमण बढ़ सकता है। सितंबर महीने में जब एकाएक कोरोना के मामले बढ़े तो सागर बीएमसी और भोपाल की चिरायु अस्पताल में भी टीकमगढ़ के रैफर मरीजों को लेने से मना कर दिया था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें