पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अतिक्रमण:वनभूमि और गौचर की 82 एकड़ भूमि को लील गया भू-माफिया, मकान भी बनाकर बेच दिए

टीकमगढ़7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 9 साल में सरकारी भूमि कब हो गई प्राइवेट राजस्व विभाग के अफसरों को जानकारी नहीं

पिछले 9 वर्षो में भू-माफिया ने सरकारी जमीन को नोच-नोचकर कोड़ियों के भाव बेच दिया है। सागर रोड स्थित बड़ागांव धसान की वन भूमि और 82 एकड़ गौचर नजर नहीं आ रही है। यहां सिर्फ आवास ही नजर आ रहे हैं। इसी तरह वनभूमि को निजी बताकर प्लाटिंग कर दी गई।

ग्रामीण क्षेत्र तो दूर शहर से लगे भगत नगर सिद्धखान रोड और आरटीओ के पीछे सालों पुरानी सरकारी जमीन कब प्राइवेट हो गई। इसकी भनक अधिकारियों को नहीं है। बल्कि सरकार भू-माफिया से जमीनों को मुक्त करा रही है, लेकिन यहां पर अभी तक जिला प्रशासन ने एक भी बड़ी कार्रवाई नहीं की है। वहीं वनभूमि की जमीन पर अतिक्रमण करने वालों की सूची जीपीएस सहित वन मंडल को भी सौंपी जा चुकी है। इसके बाद भी इस पर विचार नहीं किया जा रहा है।

दरगुवां रोड पहाड़ी के दोनों ओर माफिया ने कब्जे करके बेची जमीन, अब सीधे कॉलोनी में तब्दील बड़ागांव धसान के बस स्टैंड से लगी दरगुवां रोड पहाड़ी के दोनों ओर भू-माफिया द्वारा अतिक्रमण कर लिया है। मुख्य मार्ग पर करीब दो किमी दोनों ओर शासकीय भूमि पर भू-माफिया का कब्जा है। यहां पक्के मकान बनाकर रहवासी इलाका बना लिया है।

क्षेत्र की वनभूमि पर माफिया मनमाने भाव में लोगों को प्लाट उपलब्ध करा रहे हैं। कोड़ियों के भाव जमीन बेचकर दर्जनों मकानों को बनवा दिया। भू-माफिया इतने सक्रीय शासकीय कर्मचारियों की भी मिली भगत दिखाई दे रही है। अब वनभूमि सीधे कॉलोनी में तब्दील हो गई। इतना ही नहीं भू-माफिया प्लाट बेचने से लेकर मकान बनवाने तक का बीड़ा उठाते हैं।

राजस्व विभाग के अधिकारियों से सांठगांठ कर गौचर बंजर पठार की 82 एकड़ पर अवैध मकान

बड़ागांव तहसील क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली राजस्व भूमि गोचर बंजारा पठार की जमीन माफिया के कब्जे में है। राजस्व विभाग के अधिकारियों से सांठगांठ करके करोड़ों की शासकीय जमीन पर अतिक्रमण कर लोगों ने कच्चे-पक्के मकानों का निर्माण कर कॉलोनी विस्तार कार्य किया गया।

उसी जमीन पर मकान बनाने माफिया लोगों से रुपए लेकर राजस्व भूमि को बेच देते हैं। 82 एकड़ की भूमि पर जगह-जगह अवैध अतिक्रमण किया जा रहा है। इसके लिए प्रशासन ठोस कार्रवाई करने में कतरा रहा है। क्योंकि कर्मचारियों की मिली भगत से शासकीय भूमि पर अतिक्रमण कराया गया।

तीन साल पहले तहसीलदार ने अवैध कच्चे पक्के निर्माण को तुड़वा कर जमीन मुक्त कराई थी

जिला न्यायालय के पीछे भगत नगर कॉलोनी से सिद्धखान रोड और आरटीओ के पीछे डली शासकीय जमीन पिछले 9 वर्षो में प्राइवेट कब हो गई। इसकी किसी को भनक नहीं है। यह जमीन पहले सरकारी रिकार्ड में दर्ज थी। भू-माफिया इतने सक्रीय हुए कि उन्होंने सरकारी जमीन को कब प्राइवेट करवा लिया। इसका अंदेशा तक नहीं हुआ।

भगत नगर में जहां देखो वहां प्लाटिंग की जा रही है, लेकिन अभी तक जिला प्रशासन के अधिकारियों ने यहां आने की जरूरत नहीं समझी। करीब तीन वर्ष पहले तहसीलदार ने अवैध पक्के निर्माण को तुड़वाया और फेंसिंग लगी जमीन को मुक्त कराया था। छोटी-मोटी कार्रवाई करने के बाद यह मामला ठंडे बस्ते में चला गया।

अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी

बड़ागांव में वनभूमि पर अतिक्रमण होने की जानकारी अब तक मेरे संज्ञान में नहीं आई है। अगर लोगों ने वनभूमि पर पक्का निर्माण किया है तो उसको दिखवाते हैं। इसकी जानकारी करवाकर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी

-एपी सिंह सेंगर, डीएफओ टीकमगढ़

मामला टास्क फोर्स में चला गया

बड़ागांव की वनभूमि पर अतिक्रमण किया गया है। अतिक्रमण कारियों की सूची बनाकर जीपीएस सहित वरिष्ठ कार्यालय में भेज दी गई। अब यह मामला टास्क फोर्स में चला गया है। वहीं पर अतिक्रमण हटाने की योजना बनाई जाएगी।

- चंद्रभान जैन, डिप्टी रेंजर बड़ागांव धसान

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें