पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खरीदारी करने के लिए शुभ योग:जून में सर्वार्थसिद्धि, अमृतसिद्धि, त्रिपुष्कर योग के बन रहे संयोग

टीकमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीकमगढ़| सराफा दुकान पर खरीदारी करते हुए लोग। - Dainik Bhaskar
टीकमगढ़| सराफा दुकान पर खरीदारी करते हुए लोग।
  • तिथि, वार और नक्षत्रों से मिलकर सर्वार्थ सिद्धि का विशेष संयोग बनता है, इन अवसरों पर खरीदारी से होगा फायदा

जून महीने की 23 तारीख को सर्वार्थ सिद्धि और अमृत सिद्धि योग बन रहा है। वहीं 22 और 26 जून को त्रिपुष्कर योग बन रहा है। पंडितों के अनुसार इनमें खरीदारी, लेन-देन और नए कामों की शुरुआत की जा सकती है। इन मुहूर्त में सर्वार्थसिद्धि, अमृतसिद्धि, त्रिपुष्कर खरीदारी करना काफी शुभ माना गया है।

पंडित कौस्तुब तिवारी ने बताया कि तिथि, वार और नक्षत्रों से मिलकर सर्वार्थ सिद्धि का विशेष संयोग बनता है। उन्होंने कहा कि ज्योतिष ग्रंथ मुहूर्त चिंतामणि में बताया है कि इस शुभ योग में किया गया हर काम सफल और फायदा देने वाला होता है। पंडित तिवारी के अनुसार इस योग में किसी भी तरह का कॉन्ट्रैक्ट, ज्वेलरी की खरीदी-बिक्री करना चाहिए। जॉब या बिजनेस के खास काम भी इस मुहूर्त में शुरू कर सकते हैं।

तीन गुना फल देने वाला है द्विपुष्कर योग

पंडित के अनुसार त्रिपुष्कर योग तीन गुना फल देने वाला होता है। इसलिए इसे त्रिपुष्कर कहा जाता है। क्योंकि, इस योग के दौरान किए गए काम को दो बार और दोहराना पड़ता है। इस तरह, उस काम का तीन गुना फायदा मिलता है। इस योग में कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिसमें नुकसान की आशंका हो।
जून महीने के शुभ संयोग
23 जून को सर्वार्थ सिद्धि सुबह 5.40 से दोपहर 12 बजे तक, 23 जून को अमृत सिद्धि योग सुबह 5.34 से दोपहर 11.50, 22 जून को त्रिपुष्कर योग सुबह 5.25 से 10.22 तक और 26 जून को सुबह 5.35 से शाम 6.10 बजे तक शुभ संयोग बन रहे हैं।

जुलाई महीने में बन रहे कई शुभ संयोग

जुलाई महीने में 2, 4, 6, 7, 11, 24, 29 और 30 को सर्वार्थ सिद्धि, 2 व 30 जुलाई को अमृतसिद्धि, 25 जुलाई को द्विपुष्कर योग, 6 जुलाई को त्रिपुष्कर और 11 जुलाई को पुष्य योग बन रहा है। इस समय कोरोना कर्फ्यू के चलते रविवार को पूरे मप्र में कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया है।

अगर यह गाइड लाइन आगे भी जारी रही तो जुलाई महीने में 4, 11 व 25 जुलाई को कोरोना कर्फ्यू लागू होने के चलते व्यापार प्रभावित होगा। सराफा व्यापारी सुनील घुवारा ने बताया कि पुष्य नक्षत्र पर लोग सबसे अधिक सोने-चांदी की खरीदी करना पसंद करते हैं, लेकिन 11 जुलाई को रविवार को पड़ने वाले पुष्य नक्षत्र में भी अगर कोरोना कर्फ्यू जारी रहा, तो व्यापारियों को काफी नुकसान होगा।

खबरें और भी हैं...