पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समाजसेवियों ने लिखा पत्र:महेंद्र सागर मार्ग से वाहनों के आवागमन पर रोक की मांग

टीकमगढ़19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारी वाहन निकलने से मंदिर की दीवारें हो रहीं क्षतिग्रस्त

शहर के महेंद्र सागर तालाब मार्ग से इन दिनों भारी वाहनों का आवागमन हो रहा है। रोजाना भारी वाहन निकलने से शिव मंदिर प्रतापेश्वर की दीवारों में दरारें पड़ने लगी हैं। जिसको लेकर स्थानीय समाजसेवियों ने कलेक्टर को पत्र लिखकर यहां से निकलने वाले भारी वाहनों पर रोक लगाने की मांग की है। साथ ही अन्य तालाबों के घाटों को सुरक्षित रखने की बात कही है।

समाजसेवी राजेंद्र अध्वर्यु ने बताया कि टीकमगढ़-ललितपुर मार्ग पर ऊपरी सड़क पर प्राचीन महेंद्र सागर तालाब स्थित है। तालाब के बाजू में शिव मंदिर प्रतापेश्वर स्थापित है। इस मार्ग से भारी वाहनों का आवागमन होता है। जिससे कंपन की स्थिति पैदा होती है। मंदिर के चबूतरे पर बैठने पर भी वाहनों के निकलने की कंपनता महसूस होती है। साथ ही मंदिर की दीवारों पर टाइल्स में भी दरारें पड़ गई हैं। ऐसे में पूरी दीवार क्षतिग्रस्त होने की आशंका बनी रहती है।

अगर इस मार्ग से आवागमन रोकने पूर्व में दोनों ओर लोहे के पोल लगाकर रास्ते को प्रतिबंधित क्षेत्र बनाया गया था, लेकिन भारी वाहनों ने तोड़कर अपना रास्ता बना लिया।

इन मंदिरों को संरक्षण देने की उठी मांग
शहर में सिद्धेश्वरी देवी मंदिर, चित्रगुप्त मंदिर, हनुमान मंदिर नायकों का श्रीराम मंदिर, बजाब की बगिया स्थित शिव हनुमान मंदिर है। समाजसेवियों का कहना है कि इन मंदिर में देखरेख सही तरीके से न होने से बदहाली नजर आने लगी है। प्रशासन इनका जीर्णोद्धार कराए।

खबरें और भी हैं...