पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से जीती जंग:पैर फ्रेक्चर फिर भी कोरोना से नहीं मानी हार, स्वस्थ होकर घर लौटीं सुगरा बानो

टीकमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कुमेदान मोहल्ले में रहने वाली 80 वर्षीय सुगरा बानो का पैर फ्रेक्चर है। उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। परिवार में बेटा पुलिस विभाग में सेवाएं दे रहा है। ऐसे में देख रेख नहीं कर पा रहा। जिस पर रिश्तेदारों ने सेवाकर उनको कोरोना से जंग जीतने में मदद की और उन्हाेंने काेराेना काे हरा दिया, अब बुजुर्ग महिला के पैर का ऑपरेशन आसानी से हो सकेगा। दरअसल 7 अप्रैल को वॉशरूम में अचानक पैर फिसलने पर बुजुर्ग महिला सुगरा बानो का पैर फ्रेक्चर हो गया था।

झांसी इलाज कराने ले गए। जहां डॉक्टरों ने ऑपरेशन बताया, लेकिन इससे पहले कोरोना का टेस्ट होना था। जैसे ही उनका कोराेना टेस्ट हुआ तो उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिससे ऑपरेशन नहीं हो पाया और सुगरा का मन दुखी हो गया। बेटा ओरछा थाने में प्रधान आरक्षक के पद पर पदस्थ मोहम्मद इकबाल की कोरोना में इमरजेंसी ड्यूटी होने पर अपनी मां की देख रेख नहीं कर पा रहे थे।

जिस पर उन्होंने अपने रिश्तेदार के घर अपनी मां को भेज दिया, लेकिन बुजुर्ग महिला ने हार नहीं मानी। इस दौरान मामा शेख वसीम अहमद, पोते जाविद ने कोविड की गाइड लाइन अनुसार लगातार उनकी सेवा की। स्वस्थ्य होने पर उन्होंने फिर से टेस्ट कराया तो फिर भी रिपोर्ट पॉजिटिव आती रही। ऐसे में तीसरी बार के टेस्ट में उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। तब जाकर राहत की सांस ली। सुगरा ने कहा कि अब पैर का ऑपरेशन अच्छे होगा।

खबरें और भी हैं...