पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गिरफ्तारी रोकने के लिए लगाई थी याचिका:पपौरा ट्रस्ट के पदाधिकारियों को हाईकोर्ट से नहीं मिली राहत

टीकमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पपौरा ट्रस्ट मामले में लगातार नए-नए मोड़ सामने आ रहे हैं। शुक्रवार को जबलपुर हाईकोर्ट की एकल पीठ ने पपौरा जैन तीर्थ ट्रस्ट से संबंधी विवाद को लेकर दायर याचिका पर बहस के बाद अगली सुनवाई 22 जून तक के लिए बढ़ा दी है। फिलहाल हाईकोर्ट ने ट्रस्टियों की गिरफ्तारी रोकने के लिए कोई अंतरिम आदेश पारित नहीं किया है।

गौरतलब है कि हाल ही में एसडीएम टीकमगढ़ सौरभ कुमार मिश्रा ने तीर्थ को चलाने वाली सार्वजनिक न्यास को भंग कर उस पर प्रशासक को नियुक्त करने की अनुशंसा कलेक्टर को की है। साथ ही सभी न्यास-धारियों (ट्रस्टीज) के खिलाफ आर्थिक एवं अन्य अनियमितताओं के चलते उनके खिलाफ धोखाधड़ी, जाल-साजी, अमानत में ख्यानत, न्यास भंग करने एवं अन्य गंभीर आरोपों पर आपराधिक कार्रवाई करने की भी अनुशंसा की थी।

जिसके विरूद्ध न्यास-धारियों ने हाईकोर्ट में डिप्टी कलेक्टर द्वारा पारित आदेश पर रोक लगाने की प्रार्थना करते हुए रिट याचिका दायर की। जिस पर गुरुवार को लगभग डेढ़ घंटा सुनवाई हुई। एकल पीठ द्वारा सुनवाई के बाद प्रकरण को 22 जून तक के लिए आगे बढ़ा दिया। जिससे शासन एवं केविएटर अपनी प्राथमिक आपत्तियां दाखिल कर सकें।

खबरें और भी हैं...