मारपीट का मामला:मारपीट के तीन आरोपियों को न्यायालय उठने तक की सजा

टीकमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मारपीट करने वाले तीन आरोपियों को न्यायालय न्‍यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी टीकमगढ़ ने न्यायालय उठने तक की सजा सुनाई। सहायक मीडिया सेल प्रभारी एडीपीओ नर्मदांजलि दुबे ने बताया कि 22 सितंबर 2015 की रात लगभग 8 बजे देशराज ग्राम बंधा में दुकान से सामान लेकर घर वापस जा रहा था। तभी ढिमरौला मोहल्‍ला में पीड़ित के गांव के हरीचा ढीमर, पन्‍नालाल ढीमर एवं थानसिंह ढीमर ने देशराज को रास्‍ते में रोक लिया। बोले कि मोहल्‍ले से मत निकला करो। तब पीड़ित ने कहा कि वह तो रोड से जा रहा है।

इसी बात पर से तीनों ने डंडा व लाठियों से देशराज की मारपीट करने लगे। जिससे पीड़ित के माथे में, हाथ में चोटें आईं। उक्‍त तीनों लोगों ने जान से मारने की धमकी भी दी। जब फरियादी चिल्‍लाया तो उसकी प‍त्‍नी जामवती, वृंदावन, हल्‍लू व बलराम ने बचाया। घटना की प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीबद्ध कर प्रकरण को विवेचना में लिया। अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्‍तुत किया गया।

न्यायालय न्‍यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी टीकमगढ़ द्वारा प्रकरण में संपूर्ण विचारण के बाद पारित अपने निर्णय में मारपीट करने वाले आरोपी हरीचा ढीमर, थानसिंह एवं पन्‍नालाल ढीमर को न्यायालय उठने तक की सजा से दंडित किया गया है। प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी प्रेरणा योगी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी द्वारा की गई।

खबरें और भी हैं...