लॉकडाउन 4.0 / संक्रमण का खतरा: बाजार में बढ़ रही भीड़, लोग नहीं कर रहे सोशल डिस्टेंस का पालन

Risk of infection: Increasing crowd in the market, people are not following social distance
X
Risk of infection: Increasing crowd in the market, people are not following social distance

  • घरों में कोरोना न आए इसके लिए हमें जागरूक रहना पड़ेगा, इसे हल्के में न लें

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

टीकमगढ़. छूट राहत के लिए मिली है मुसीबत के लिए नहीं। शासन की ओर से लॉकडाउन 4.0 में दी गई छूट को लोग मुसीबत बनाने पर तुले हैं। कोरोना भी ऐसी लापरवाही का इंतजार कर रहा है। इसलिए लोगों को सावधान होना जरूरी है। क्योंकि लोगों की एक लापरवाही से कोरोना की दस्तक बढ़ सकती है। 
टीकमगढ़ जिले में अब तक 6 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। जिनमें से तीन स्वस्थ होकर घर पहुंच चुके हैं। वहीं तीन कोरोना संक्रमित मरीजों का आइसोलेशन में इलाज चल रहा है। घरों में कोरोना न आए इसके लिए लगातार लोगों को जागरूक करने के बाद भी लोग सबक नहीं ले रहे हैं। 
प्रशासन लोगों को बार-बार आगाह कर रहा है कि कोरोना का अब तक काेई इलाज नहीं। बचाव ही एक मात्र उपाय है। इसलिए सोशल डिस्टेंस का पालन करें। इसके बावजूद शनिवार को शहर में लापरवाही की कई तस्वीरें बाजारों में दिखीं। जिसे देखकर लगता है कि स्वयं का सावधान और सजग होना जरूरी है। सब्जी दुकान पर भीड़ न लगे। इसके लिए जिला प्रशासन ने सब्जी दुकानदारों को मोहल्लों में घर-घर जाकर बेचने का आदेश दिया। सब्जी मोहल्लों में बिक भी रही है, लेकिन लॉकडाउन 4.0 के बाद राहत वाली छूट को लोग हल्के में ले रहे हैं। सोशल डिस्टेंस बाजार में पूरी तरह से फेल दिखाई दे रहा है। 
टीकमगढ़ शहर और बल्देवगढ़ तहसील में 6 कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद भी लोग सचेत नहीं हो रहे हैं। मुख्यालय स्थित मुख्य बाजार से लेकर, कटारा बाजार, लुकमान चौराहा, स्टेट बैंक चौराहा के पास दुकानों पर भीड़ देखकर लगता है जैसे कोरोना का संकट टल गया हो। खरीदार बेधड़क सड़कों पर घूम रहे हैं।
मिली छूट को लोगों ने बना दिया मजाक 
सिविल लाइन निवासी मोनू खान का कहना है कि जब तक प्रशासन का दवाब था, तो लोग घरों में दुबककर बैठे थे, लेकिन बाजार खोलने के लिए मिली छूट का समय बढ़ने के बाद लोगों के मन से कोरोना का डर खत्म हो गया है। उन्होंने कहा कि लोग लॉकडाउन को मजाक समझ रहे हैं।
पहली बार पॉजिटिव शब्द  निगेटिव फीलिंग दे रहा 
मार्केट खरीदारी करने पहुंची सिविल लाइन स्थित शांति नगर कॉलोनी निवासी रूचि जैन ने बताया कि पहली बार पॉजिटिव शब्द से निगेटिव फीलिंग आ रही है। वहीं निगेटिव शब्द सुनते ही राहत मिलती है। उन्होंने कहा कि ऐसे मुश्किल दौर में लोग ऐसे बर्ताव कर रहे हैं। जैसे कोरोना खत्म हो गया हो। लॉकडाउन में मिली छूट का लोग गलत फायदा उठा रहे हैं। अगर हमें अपने परिवार को सुरक्षित रखना है, तो शासन के नियमों का पालन करना बहुत जरूरी है।
सब्जी की दुकानों पर सोशल डिस्टेंस तोड़ रहा दम 
तालदरवाजा निवासी राजकुमारी द्विवेदी का कहना है कि मोहल्ले में आने वाले सब्जी के ठेलों पर सोशल डिस्टेंस दम तोड़ रहा है। लोग सब्जी दुकान पर सोशल दूरी अपनाने के बजाय खरीदारी के लिए मारा-मारी कर रहे। मानों कोरोना नाम का शब्द तक ये नहीं जानते। इससे खतरे का अंदाजा लापरवाह लोगों को आसानी से समझना होगा। 
नियमों का पालन जरूरी, उल्लंघन पर कार्रवाई होगी
इस संबंध में जब एसडीएम एमके प्रजापति से बात की तो उन्होंने कहा कि लोगों को नियमों का पालन करने की हिदायत दी जा रही है। मार्केट में बढ़ रही भीड़ को देखते हुए रैंडमली कार्रवाई शुरू करेंगे। उपभोक्ता और दुकानदार को शासन के नियमों का पालन करना जरूरी है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना