पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मानसून मेहरबान:जिले में अब तक 170.4 मिमी बरसे बादल, अगले 24 घंटे में जोरदार बारिश के आसार

टीकमगढ़3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में बने पार्क से ली गई तस्वीर, शाम : 4:30 बजे - Dainik Bhaskar
शहर में बने पार्क से ली गई तस्वीर, शाम : 4:30 बजे

दो दिनों से जिले में मानसून मेहरबान है। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में अच्छी बारिश हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार अगले दो-तीन दिन अच्छी बारिश की संभावना है। बारिश के 36 और जुलाई माह के 21 दिन निकल गए, लेकिन अब तक जुलाई महीने की औसत बारिश का कोटा भी पूरा नहीं हो सका। अब तक जिले में 170.4 मिमी बारिश ही हुई है। बुधवार को आसमान में बादल छाए रहने के चलते दिन के तापमान में 2.8 डिग्री और रात के तापमान में 2 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। मंगलवार को जहां दिन का तापमान 32.4 डिग्री और रात का 26.4 डिग्री था।

वहीं बुधवार को दिन का तापमान में 29.6 और न्यूनतम 24.4 डिग्री दर्ज किया गया। ऐसे में अब किसानों का रुख कम पानी की फसल मूंगफली, उड़द व तिल की ओर है। जिले में अभी 29 जुलाई तक मानसूनी सिस्टम सक्रिय रहेगा। 22 जुलाई के बाद अच्छी बारिश की उम्मीद है। भू-अभिलेख शाखा के अनुसार बीते 24 घंटे में टीकमगढ़ में 31, बड़ागांव में 40, बल्देवगढ़ में 27, खरगापुर में 25, जतारा 3, मोहनगढ़ में 6, लिधौरा में 2 और पलेरा में 7 मिमी बारिश दर्ज की गई।

इस साल मंडरा रहा अल्पवर्षा का संकट
बता दें कि जिले में बारिश की शुरूआत 1 जून से मानी जाती है और वर्षाकाल की शुरुआत 15 जून से होती है। आमतौर पर जून में मानसून दस्तक दे देता है और इस बार 16 जून को मानसून ने दस्तक तो दी। लेकिन अब बारिश से जिला पिछड़ने लगा है। जिले में कहीं कहीं तेज बूंदाबांदी हो रही तो कहीं-कहीं बारिश। ऐसे में इस साल अल्प बारिश की आशंका बनते दिखाई दे रही है।

किसानों का रुख कम पानी की फसलों की ओर
कृषि महाविद्यालय के वैज्ञानिक डॉ. संजय सिंह बताते हैं कि कम बारिश से किसान कम पानी वाली फसलों की बोवनी कर रहे हैं। इस बार जिले में सोयाबीन का रकबा घटेगा और उड़द का बढ़ेगा। उड़द की फसल कम समय में आ जाती है। खेत में नमी मिलने पर बीज जल्दी अंकुरित होता है। तिल व मूंगफली की फसल को भी अधिक पानी की जरूरत नहीं होती। किसान सोयाबीन की बोवनी अब न करें।

दिन का पारा 2.8 डिग्री गिरा, शाम को उमस
बुधवार को सुबह से आसमान में काले बादल छाए रहे। कहीं-कहीं बूंदाबांदी हुई, लेकिन दोपहर के बाद उमस ने लोगों का हाल बेहाल कर दिया। इस सीजन में अब तक अच्छी बारिश नहीं हुई है। आसमान में बादल छाए रहने सेे दिन के तापमान में 2.8 डिग्री और रात के तापमान में 2 डिग्री की गिरावट आई। बुधवार को दिन का तापमान में 29.6 और न्यूनतम 24.4 डिग्री दर्ज किया गया।

बंगाल की खाड़ी में बन रहा है सिस्टम
मौसम विभाग के नोडल एके श्रीवास्तव ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बन रहा है। जिससे जिले में अच्छी बारिश की संभावनाएं नजर आ रही हैं। यूपी में मानसून पूरी तरह सक्रिय हो गया है और पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के अधिकांश जिलों में जोरदार बारिश देखने को मिलेगी। उन्होंने बताया कि दक्षिण-पश्चिमी मानसून राज्य में पूरी तरह सक्रिय हो गया है।

जुलाई के 21 दिन में 170.4 मिमी बारिश
जुलाई माह के 21 दिनों में अब तक सिर्फ 170.4 मिमी बारिश हुई, जबकि बीते साल 21 दिनों में 199 मिमी बारिश हुई थी। साल 2020 में जुलाई माह के 21 दिन में टीकमगढ़ ब्लाॅक में 190, बड़ागांव धसान में 190, बल्देवगढ़ व खरगापुर में 252, मोहनगढ़, जतारा और लिधौरा में 188 और पलेरा में 144 मिमी बारिश हुई थी। वहीं इस बार अब तक टीकमगढ़ ब्लाॅक में 210, बड़ागांव धसान में 232, बल्देवगढ़ व खरगापुर में 165, मोहनगढ़ में 141, जतारा में 129, लिधौरा में 118.5 और पलेरा में 196 मिमी बारिश हुई है। बता दें कि जुलाई माह की सामान्य औसत बारिश 240.1 मिमी है, जबकि इस बार औसत बारिश से 100 मिमी कम है।

खबरें और भी हैं...