जेल के स्वीपर ने लगाई फांसी, मौत:परिजन बोले- साहूकार द्वारा कर्ज वापस देने को लेकर किया जा रहा था प्रताड़ित

निवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हाईवे रोड पर स्थित उप जेल कारागार के सफाई कर्मचारी ने साहूकार के कर्ज की प्रताड़ना के चलते अपने आवास के बगल में लगे पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिया गया। शनिवार की सुबह करीब 5 बजे उप जेल में पदस्थ स्वीपर विष्णु कुमार नरवरे ने अपने आवास के बाजू में लगे पेड़ से फांसी लगा ली।

जब परिजन बाहर निकले, तो उन्होंने देखा कि विष्णु पेड़ से लटका हुआ है। इतने में ही जेल अधीक्षक विकास जैन को घटना की खबर लगी, तो वह मौके पर पहुंचे। उन्होंने तत्काल पुलिस एवं उच्च अधिकारियों को घटना की सूचना दी। जानकारी मिलने के बाद कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। पीएम के बाद परिजन शव को लेकर ग्वालियर चले गए। जहां स्वीपर का अंतिम संस्कार किया गया। मृतक के परिजन ने बताया कि विष्णु को साहूकार रुपए के लिए प्रताड़ित कर रहा था।

जिसकी रिपोर्ट पुलिस थाना कोतवाली में 5 अगस्त को दर्ज कराई गई थी, कि निवाड़ी नगर के एक व्यक्ति के द्वारा करीब पौने दो लाख के कर्ज को लेकर प्रताड़ित किया जा रहा है। जिससे वह बहुत परेशान है। साथ ही विष्णु ने साहूकार के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी। रिपोर्ट के 2 दिनों में जब कोई कार्रवाई नहीं की गई तो विष्णु ने पेड़ से लटककर फांसी लगा ली।

इस मामले में कोतवाली थाना प्रभारी नरेंद्र सिंह परिहार ने बताया कि स्वीपर ने फांसी क्यों लगाई। इसकी जांच की जा रही है। मृतक का पीएम करवाकर शव परिजन को सौंप दिया गया है। मामला दर्ज कर विवेचना की जा रही है। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...