इन दिनों उड़द की आवक बढ़ी:मंडी में किसानों के लिए बनाए गए टीनशेड में व्यापारियों ने रखा अपना माल, खुले में पड़ी रही किसानों की फसल

टीकमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ढोंगा स्थित कृषि उपज मंडी में इन दिनों उड़द की आवक बढ़ गई है, लेकिन पूरा माल खुले में डल रहा है। टीनशेड में व्यापारियों का माल रखा होने से किसानों को उपज रखने के लिए जगह नहीं मिल पा रही है। इसी तरह की स्थिति होने पर पूर्व में मंडी प्रशासन द्वारा व्यापारियों का माल हटवाया गया था लेकिन अब फिर से वही स्थिति बन गई है।

इस बार टीकमगढ़ में उड़द की फसल खराब होने से किसानों को नुकसान झेलना पड़ा है। जिससे मंडी में जिले से मात्र 20 प्रतिशत ही उड़द बिकने पहुंच रही है। वहीं उत्तरप्रदेश के ग्रामीण 80 प्रतिशत उड़द लेकर रोजाना पहुंच रहे हैं। मंडी में हर रोज करीब 2 हजार क्विंटल उड़द की नीलामी हो रही है। आसपास से सटे उत्तरप्रदेश के किसानों को भाव अच्छे मिलने से वे यहां की मंडी में उपज को बेचने पहुंच रहे हैं।

किसानों के लिए मंडी में टीनशेड का निर्माण कराया गया था, इसके बावजूद इन किसानों की उपज खुले में डाली जा रही है। क्योंकि टीनशेड में व्यापारियों का माल रखा जा रहा है। ऐसे में अगर मावठ पड़ती है तो किसानों को नुकसान उठाना पड़ सकता है।

पूर्व में व्यापारियों का माल हटवाया गया था

कृषि उपज मंडी में बने टीनशेड में व्यापारियों का माल रखे होने से किसानों को अपनी उपज रखने के लिए जगह नहीं मिलती थी। जिस पर मंडी प्रशासन के द्वारा व्यापारियों को अवगत कराकर टीनशेड से उनका माल हटवाया गया था। कुछ समय तक टीनशेड खाली रहे, लेकिन फिर से व्यापारियों ने अपना माल यहां पर जमा लिया है। व्यापारी मंडी प्रशासन के निर्देशों को नहीं मान रहे हैं।

माल रखा मिला तो हटवाया जाएगा
कृषि उपज मंडी के प्रभारी सचिव घनश्याम प्रजापति का कहना है कि पहले भी व्यापारियों द्वारा मंडी के टीनशेड में माल रखा जा रहा था। जिसे सख्ती से हटवाया गया था। लगभग सभी टीनशेड खाली हैं। यह टीनशेड किसानों की उपज के लिए बनाए गए हैं। अगर इनमें व्यापारियों ने फिर से अपना माल रख लिया है तो उन्हें हटवाया जाएगा। किसानों काे माल रखने के लिए जगह दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...