सश्रम कारावास:मारपीट कर अस्थि भंग करने वाले दो आरोपी को 3-3 साल की सजा

टीकमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मारपीट करने वाले तीन आरोपियों को न्यायालय ने तीन-तीन साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। सहायक मीडिया सेल प्रभारी एडीपीओ नर्मदांजलि दुबे ने बताया कि 1 दिसंबर 2013 को रात लगभग 8 बजे ग्राम सापोन स्थित गंगा सागर गुल्‍ला वारे खेत पर आरोपी नीरज, संतोष एवं तिजुआ पाल ने आशाराम पाल से गाली गलौज कर मां श्‍यामबाई की मारपीट की थी। जिसकी रिपोर्ट पिता सल्ला पाल ने दर्ज कराई। थाना बड़ागांव पुलिस ने आरोपियों पर धारा मामला दर्ज किया था।

पीड़ित आशाराम एवं श्‍यामबाई का मेडिकल परीक्षण कराया गया। चिकित्सीय रिपोर्ट में अस्थिभंग होने का उल्लेख होने से धारा 325 का इजाफा किया गया। संपूर्ण विवेचना के बाद अभियोग पत्र न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। न्यायालय न्‍यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी द्वारा संपूर्ण विचारण के बाद पारित अपने निर्णय में आरोपी नीरज पाल, संतोष पाल एवं तिजुआ पाल को तीन-तीन साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई है। उक्‍त प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी विकास गर्ग, सहायक जिला अभियोजन अधिकारी द्वारा की गई।

खबरें और भी हैं...