संक्रमण ने पकड़ी रफ्तार / अप्रैल में दो पॉजिटिव मिले थे, मई में 9 व जून में 35; अनलॉक में बाजार खुलने से बढ़ा संक्रमण

X

  • मंगलवार को टीकमगढ़ में 4 और निवाड़ी में 1 पॉजिटिव की पुष्टि

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

टीकमगढ़. जिले में बीते 10 दिनों में कुल 24 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। बात अगर अप्रैल महीने की करें तो टीकमगढ़ जिले में सिर्फ दो मरीज थे, जबकि मई में कोरोना के 9 नए मरीज मिले, लेकिन जून महीने में कोरोना ने रफ्तार पकड़ ली। इतना ही नहीं लॉकडाउन के दौरान ग्रीन जोन में शामिल रहे निवाड़ी जिले में भी कोरोना ने 11 जून से अपनी दस्तक दे दी। 
जून महीने में टीकमगढ़ में कुल 35 कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आए हैं। जिससे अब टीकमगढ़ जिले में कुल 46 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। हालांकि 19 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं, 27 का इलाज चल रहा है।  इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि टीकमगढ़ में कोरोना एक महीने में तीन गुना से भी ज्यादा तेजी से फैला है। जून के महीने में प्रवासी मजदूर लौटे और बाजर भी खुलना शुरू हुए, जिससे संक्रमण तेजी से फैला है।

जानकारों का कहना है कि टीकमगढ़ शहर में अब कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बढ़ा है। टीकमगढ़ में मिले अब तक कोरोना पॉजिटिवों में 18 से 45 वर्ष की आयु के अधिकांश लोग हैं। जबकि स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बुजुर्ग व बच्चों को ज्यादा खतरा था। 
टीकमगढ़ जिले में 4 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। शहर के हिमांचल की गली में झांसी से इलाज करवाकर लौटी महिला 26 जून को कोरोना पॉजिटिव आई। इसके बाद से लगातार शहर में कोरोना के संक्रमितों की संख्या में इजाफा हुआ है। सोमवार को देर रात हिमांचल गली निवासी महिला के दो बेटों की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई। इसके एक दिन पहले महिला का पति भी कोरोना पॉजिटिव आया था। वहीं नरैया माेहल्ला निवासी एक दंपती भी इसी महिला के संपर्क में आया था, जो कोरोना पॉजिटिव निकला। वहीं देर रात टीकमगढ़ में मामोन दरवाजा निवासी 70 साल के बुजुर्ग एवं जतारा में दिल्ली से लौटी महिला की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है।
इसके बाद टीकमगढ़ में पॉजिटिवों की संख्या बढ़कर 46 और निवाड़ी में एक कोरोना पॉजिटिव मिलने से वहां मरीजों की संख्या बढ़कर 10 हो गई। सैंपलिंग घटने के बाद भी पॉजिटिव केस बढ़े: 31 मई तक जिले में 939 मरीजों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए थे। जिनमें सिर्फ 11 की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई और 875 निगेटिव आए थे। वहीं जून महीने में 450 के करीब सैंपल लिए गए और मरीजों की संख्या बढ़कर 46 हो गई।

पहले बाहर से आने वाले लोगों को जबरन क्वारेंटाइन कर सैंपल लेना पड़ रहे थे। वहीं अब लोग सर्दी-जुकाम की दवा लेने जब अस्पताल पहुंचते हैं, ऐसे में अगर मरीज संदिग्ध हुआ तो उसका ही सैंपल लिया जा रहा है। सैंपलिंग घटने के बाद भी जिले में मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। जबकि 40 सैंपल वर्तमान में सागर लैब में पेंडिंग हैं। जिले में अब तक 1400 सैंपल लिए गए हैं। जिनमें से 46 कोरोना संक्रमितों की पुष्टि हुई है। 

लॉकडाउन के 71 दिन में सिर्फ 11 और जून के 10 दिन में 24 संक्रमित
कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए देशभर में किए गए लॉकडाउन के दौरान भले ही जिले में कोरोना संक्रमित उतनी संख्या में सामने नहीं, जितने की अब अनलॉक होने के बाद मिल रहे हैं। यहां बता दें कि 25 मार्च से 30 मई तक रहे लॉकडाउन के दौरान जिले में 11 मरीज मिले। जबकि जून महीने के बीते 10 दिनों में 24 मरीज सामने आ चुके हैं।

निवाड़ी जिले में अब तक 10 मरीज
25 मार्च से लॉकडाउन के बाद अप्रैल, मई और 10 जून तक निवाड़ी ग्रीन जोन में था, लेकिन 11 जून को मिले 2 कोरोना पॉजिटिवों के बाद लगातार संख्या बढ़ती जा रही है। 30 मई को 1 और कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद संख्या 9 से बढ़कर 10 हो गई है। निवाड़ी जिले में अब तक 220 से अधिक सैंपलों की जांच की गई। जिनमें 200 की रिपोर्ट निगेटिव आई तो 10 पॉजिटिव हैं।

पहले संक्रमितों में नहीं थे लक्षण, अब सर्दी-जुकाम वाले निकल रहे पॉजिटिव 
सीएमएचओ डॉ. एमके प्रजापति ने बताया कि कोरोना काल के दौरान शुरूआत में मिले मरीजों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे, लेकिन जून महीने मिले कोरोना पॉजिटिवों में अधिकांश में लक्षण दिखाई दे रहे हैं। बीते 10 दिनों में जो मरीज मिलें हैं, उन सभी में सर्दी, जुकाम, बुखार जैसे कोरोना वायरस के सामान्य लक्षण देखे गए। वहीं कुछ मरीज ऐसे भी सामने आए, जो या तो बाहर से आए या फीवर क्लीनिक में दवा लेने गए जहां कोरोना के संदेह में उनका टेस्ट किया गया तो वे पॉजिटिव मिले। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना