• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Satna
  • 5KM Long Silent Circumambulation Of Kamadgiri Mountain, Said Listen Draupadi Take Up Arms, Now Govind Will Not Come

चित्रकूट आईं प्रियंका गांधी:कामदगिरि पर्वत की 5KM लंबी मौन परिक्रमा की, बोली- सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो, अब गोविंद न आएंगे

सतना9 महीने पहले

सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद न आएंगे, कैसी रक्षा मांग रही हो दु:शासन दरबारों से... सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद न आएंगे... कुछ इन्हीं शब्दों के साथ बुधवार को प्रियंका गांधी ने महिला संवाद की शुरुआत की। सतना पहुंची प्रियंका ने चित्रकूट के राम घाट सैकड़ों महिलाओं से राजनीति में आकर देश और समाज को नई दिशा में लेकर जाने को कहा। यहां पर उन्होंने नव विहार कर मतगजेंद्र नाथ मंदिर पहुंचकर पूजन किया। उन्होंने कामतानाथ के दर्शन भी किए। गौरतलब है कि प्रियंका उप्र चुनाव के लिए जगह-जगह दौरा कर रही है। चित्रकूट का कुछ हिस्सा उप्र में और कुछ हिस्सा मप्र में है।

लड़की हूं... लड़ सकती हूं...
प्रियंका के आने काे लेकर घाट पर लगे पोस्टरों पर लिखा था- लड़की हूं, लड़ सकती हूं। इसका मतलब समझाते हुए प्रियंका ने कहा कि महिलाएं अपनी शक्ति काे पहचानें... अब वे किसी से मदद की आस न लगाएं। मैं ताे कहती हूं कि 40% महिलाओं काे राजनीति में आकर उप्र में विधानसभा चुनाव लड़ना चाहिए। कुछ काे इस बार सफलता मिलेगी, कुछ को असफलता, लेकिन हमें लड़ना होगा... लड़ेंगे तब ही जीतेंगे।

घाट पर लगे पोस्टर, प्रियंका ने चित्रकूट में लड़कियों से बातचीत की।
घाट पर लगे पोस्टर, प्रियंका ने चित्रकूट में लड़कियों से बातचीत की।

प्रियंका ने कहा कि 40% भागीदारी एक शुरुआत है। लोकसभा के चुनाव में हमारी ये कोशिश रहेगी कि 50% टिकट महिलाओं को दिया जाए। आपका शोषण किया जा रहा है, आप पर अत्याचार किया जा रहा है, आपको पीटने वालों से आप अपना हक मांगेंगे तो कभी नहीं मिलेगा... अपने हक के लिए लड़ना पड़ेगा, जो सरकार आपके लिए कुछ कर ही नहीं रही है तो उसे आगे क्यों बढ़ाना?

राजनीति में आजकल बहुत क्रूरता और हिंसा है
प्रियंका ने बताया कि मैं यहां आपसे इसलिए बात करने आई हूं कि अपना मन बना लीजिए। आप आधी आबादी हैं, तो एकजुट होकर आप अपना हक क्यों नहीं मांग रही हैं? राजनीति में आपकी भागीदारी सुनिश्चित है। महिलाएं लड़ेंगी और लड़ने से समाज और राजनीति में एक बहुत बड़ा बदलाव आएगा। कोई ऐसा राजनैतिक दल नहीं होगा जो उन्हें रोक पाएगा। राजनीति में आजकल बहुत क्रूरता और हिंसा है।

लखीमपुर में मंत्री के बेटे ने किसानों को कुचल ​दिया। सरकार ने अत्याचारी की मदद की। हिंसा को खत्म करने के लिए महिलाओं का राजनीति में आना जरूरी है। महिलाओं में करुणा भाव होता है। राजनीति में हिंसा, क्रूरता, अत्याचार और शोषण खत्म करने के लिए महिलाओं का आगे आना जरूरी है। आप आगे आइए ताकि हम राजनीति, समाज और पूरे देश को बदल सकें।

कामतानाथ के दर्शन करने पहुंची प्रियंका, लगाई मौन परिक्रमा
यूपी चुनाव की तैयारी में जुटी कांग्रेस के अभियान के तहत महिलाओं को साधने चित्रकूट पहुंची राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रामघाट पर महिला संवाद के बाद भगवान कामतानाथ के दर्शन किए। उन्होंने कामदगिरि पर्वत की 5 किमी लंबी परिक्रमा भी लगाई। परिक्रमा के समय प्रियंका ने मौन धारण कर रखा था।

प्रियंका ने कामदगिरि पर्वत की 5 किमी लंबी परिक्रमा भी लगाई। परिक्रमा के समय उन्होंने मौन धारण कर रखा था।
प्रियंका ने कामदगिरि पर्वत की 5 किमी लंबी परिक्रमा भी लगाई। परिक्रमा के समय उन्होंने मौन धारण कर रखा था।

राहुल गांधी ने भी 2018 चुनाव का आगाज चित्रकूट से किया था
2018 में मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव के पहले राहुल गांधी ने भी अपने अभियान की शुरुआत चित्रकूट से ही की थी। उन्होंने भी कामतानाथ के दरबार में मत्था टेका था। अब जब यूपी के चुनावी अभियान का आगाज है तब प्रियंका चित्रकूट पहुंची हैं। माना जा रहा है कि चित्रकूट कांग्रेस के लिए लकी डेस्टिनेशन है, क्योंकि 2018 के यहां से शुरू हुए अभियान के बाद मध्यप्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनी थी, हालांकि वह सरकार 15 माह में ही गिर गई।

खबरें और भी हैं...