• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Satna
  • They Were Being Forced Into Hostage In Bangalore's Water Plant, The Hostage Young Man Made A Video From The Window, Sent The Police With The Location

मोबाइल लोकेशन से निकला फंसा मजदूर:बैंगलोर के वॉटर प्लांट में बंधक बनाकर जबरन करवा रहे थे मजदूरी, बंधक युवक ने खिड़की से वीडियो बनाया, पुलिस को लोकेशन के साथ भेजा

कटनी5 महीने पहले
पुलिस की गाड़ी से उतरते ही माता-पिता को लगाया गले।

बैंगलोर के वॉटर प्लांट में बंधक बनकर मजदूरी करने को मजबूर कटनी जिले के युवक को पुलिस ने मुक्त करा लिया है। युवक बैंगलोर में किस स्थान पर बंधक है, उसे नहीं पता था, जिस पर पुलिस ने उसे मोबाइल से आसपास के क्षेत्र का वीडियो बनाने के लिए कहा। युवक ने वीडियो बनाकर पुलिस को भेजा, साथ ही गूगल मेप से लोकेशन भेजी। पुलिस ने बैंगलोर पुलिस से संपर्क कर क्षेत्र का वीडियो और गूगल लोकेशन शेयर किया, जिसके बाद बैंगलोर की स्थानीय पुलिस ने युवक को बंधक मुक्त कराया। सोमवार सुबह युवक ट्रेन से कटनी स्टेशन पहुंचा, जहां से कुठला पुलिस ने उसे उसके घर पहुंचा दिया।

पुलिस ने बताया कि कुठला के मदनपुरा गांव के रहने वाले 24 साल के राजकुमार पुत्र मिट्ठूलाल पटेल 5 सितंबर को बैंगलोर में संचालित वॉटर प्लांट में काम करने के लिए गया था। जहां पर उससे बंधक बनाकर मजदूरी कराई जाने लगी। युवक ने वॉटर प्लांट के कर्मचारियों से वापस कटनी आने की बात कही। लेकिन प्लांट प्रबंधक द्वारा उसे वापस नहीं भेजा जा रहा था।

पुलिस ने युवक को मुक्त करवाया और उसके गांव पहुंचाया।
पुलिस ने युवक को मुक्त करवाया और उसके गांव पहुंचाया।

बंधक बनाकर मजदूरी कराए जाने की जानकारी फोन पर राजकुमार ने अपने पिता को दी। युवक के पिता ने कुठला थाने में जाकर राजकुमार को बंधक बनाकर मजदूरी कराए जाने की जानकारी दी। पुलिस ने राजकुमार से मोबाइल पर बात की। उसने बताया कि उसे बंधक बनाकर मजदूरी कराई जा रही है, घर वापस नहीं आने दिया जा रहा है।

प्लांट कहां पर है नहीं थी जानकारी
पुलिस ने राजकुमार से प्लांट का पता पूछा। जिस पर राजकुमार ने बताया कि उसे नहीं पता है कि प्लांट कहां पर है। जिसके बाद पुलिस ने उसे आसपास के क्षेत्र का वीडियो बनाकर सोशल मीडया पर भेजने के लिए कहा। राजकुमार ने वीडियो बनाकर कुठला थाने में पदस्थ एएसआई विजेन्द्र तिवारी के मोबाइल पर भेजा। राजकुमार ने गूगल मेप का लोकेशन भी मोबाइल पर भेजा।

पुलिस ने ट्रेन से वापस बुलाया

एएसआई विजेन्द्र तिवारी बैंगलोर पुलिस के सायबर सेल के कर्मचारियों से संपर्क किया और उन्हें वीडियो और गूगल मैप को लोकेशन भेजा। जिसके बाद बैंगलोर पुलिस ने वहां पहुंचकर युवक को मुक्त करा दिया। युवक के मुक्त होने के बाद पुलिस ने ट्रेन की ऑनलाइन टिकट करवाकर उसे वापस कटनी बुलाया। सोमवार सुबह राजकुमार पटेल कटनी स्टेशन पहुंचा। जहां से पुलिस ने उस उसके घर पहुंचा दिया।

खबरें और भी हैं...