• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sehore
  • Ashta
  • There Should Be A High School For Rural Students At A Distance Of 8 To 10 Km, Will Not Have To Go Outside The Village To Study

अधिकारियों ने शासन को भेजा प्रस्ताव:8 से 10 किमी की दूरी पर ग्रामीण छात्रों के लिए होना चाहिए हाई स्कूल, पढ़ने के लिए नहीं जाना पड़ेगा गांव से बाहर

आष्टा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शासन के नियम व आदेश अनुसार प्रत्येक गांव के 8 से 10 किलोमीटर की दूरी पर ग्रामीण छात्र-छात्राओं के लिए हाई स्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूल होना चाहिए। इस संबंध में आष्टा अनुविभाग के 10 माध्यमिक स्कूलों की सूची शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने शासन को भेजी है। स्वीकृति मिलने पर छात्र -छात्राओं को अपने गांव से बाहर हाई स्कूल की पढ़ाई के लिए नहीं जाना पड़ेगा।

बीआरसीसी अजबसिंह राजपूत ने बताया कि शिक्षा विभाग को गांव डोडी, दुपाड़िया, पटारिया, गवाखेड़ा, श्यामपुरा मगरदा, गाजना, मोलूखेड़ी, टिगरिया आदि‎ का प्रस्ताव बनाकर हाईस्कूल में बदलने के लिए भेजा है, अभी स्वीकृति नहीं आई है। स्वीकृति मिलने पर इन गांवों के छात्र छात्राओं को गांवों में ही हाई स्कूल की पढ़ाई की सुविधा मिल जाएगी और उन्हें गांव के बाहर हाई स्कूल की पढ़ाई के लिए नहीं जाना पड़ेगा। आमतौर पर कक्षा 8वीं की पढ़ाई के‎ बाद जिन गांव के विद्यार्थियों को या‎ तो गांव छोड़ कर शहर आना पड़ता‎ था या फिर गांव से सटी 20-25‎ किलोमीटर की सीमा में बने दूसरे‎ गांव पहुंचकर कक्षा नौवीं तक पढ़ाई‎ करने पर मजबूर होना पड़ता था।‎

पढ़ाई करना होगा आसान

शासन से स्वीकृति मिलने के बाद इन गांवों में इन विद्यालयों के‎ विद्यार्थियों को पढ़ाई करना आसान‎ होगा। अब इनके गांव के‎ माध्यमिक विद्यालयों को सरकार हाईस्कूल में बदल देगी।‎ जिसके चलते वहां कक्षा 9‎ और 10 की पढ़ाई हो सकेगी।‎ दरअसल माध्यमिक‎ विद्यालयों में कक्षा 8 की पढ़ाई‎ करने के बाद बहुत सी छात्राओं को गांव के बाहर‎ दूसरी जगह स्कूल होने पर उनके‎ अभिभावक पढ़ने नहीं जाने‎ देना चाहते थे। जबकि छात्राएं‎ पढ़ाई करना चाहती थी, गांव के‎ कुछ छात्रों की स्थिति भी यही थी।‎ ऐसे में अगर 10 माध्यमिक‎ विद्यालयों को हाई स्कूल बदल दिया जाएगा, तो गांव के बच्चों को‎ नहीं होना पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...