कन्या हाई स्कूल खोलने प्रस्ताव भेजा:तहसील के 101 गांव के बीच एक भी कन्या हाई स्कूल नहीं, छात्राओं की छूट जाती है पढ़ाई

जावर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

तहसील क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 101 गांव के बीच एक भी कन्या हाई स्कूल नहीं है। अलग से कन्या हाई स्कूल नहीं होने के कारण बालिकाओं को बालक स्कूल में ही पढ़ाई करना पड़ रही है। इसके बाद आगे की पढ़ाई जारी नहीं रख पा रही हैं। कन्या स्कूल के लिए नगर तथा ग्रामीण क्षेत्रों से लंबे समय से मांग की जाती रही है। नगर में एक बार फिर कन्या हाई स्कूल खुलने की उम्मीद जागी है। इस बार क्षेत्रीय विधायक रघुनाथ सिंह मालवीय के प्रयासों के बाद आष्टा विधानसभा के पांच शासकीय माध्यमिक शालाओं के उन्नयन के संबंध में स्थानीय स्तर से लोक शिक्षण संचालनालय भोपाल द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी के माध्यम से इन स्कूलों से प्रस्ताव मांगे गए हैं।

विधायक द्वारा आष्टा क्षेत्र की पांच माध्यमिक शालाओं को उन्नयन करने के संबंध में 24 अगस्त को लोक शिक्षण संचालक भोपाल को पत्र लिखा गया था। उक्त पत्र के आधार पर लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखकर इन विद्यालयों से प्रस्ताव उन्नयन के संबंध में मांगे गए। जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा इन शालाओं से उन्नयन के संबंध में प्रस्ताव मांगे गए हैं।

स्कूल के लिए हो चुका है आंदोलन: बता दें कि नगर में अलग से कन्या हाई स्कूल खोलने के लिए नगरवासी लंबे समय से मांग करते आ रहे हैं। कई बार धरना आंदोलन से लेकर ज्ञापन,भूख हड़ताल तक कर चुके हैं। पूर्व पार्षद रमेश पाटीदार ने बताया कि कन्या स्कूल खोलने के लिए पिछले 20 सालों से नगरवासी मांग कर रहे हैं, लेकिन आज तक कन्या स्कूल नहीं खुला। जबकि नगर को तहसील का दर्जा, स्वतंत्र मंडी, अस्पताल का उन्नयन, कॉलेज खुलना सहित कई सौगातें नगर को शासन से मिल चुकी हैं।

अब फिर क्षेत्रीय विधायक रघुनाथ सिंह मालवीय के विशेष प्रयासों से नगर की माध्यमिक शाला को उन्नयन कर कन्या हाई स्कूल खुलने की उम्मीद जागी है। शासकीय कन्या माध्यमिक शाला के प्रधान अध्यापक जयनारायण राठौर ने बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा नगर की शासकीय माध्यमिक शाला के उन्नयन के संबंध में प्रस्ताव मांगा गया है जो हमारे द्वारा बनाकर भेजा जा चुका है।

इन स्कूलों के नाम भी भेजें
इसमें जावर की शासकीय कन्या माध्यमिक शाला भी शामिल है। इसके अलावा हुसैनखेड़ी, मोलूखेड़ी, दुपाड़िया, जहांगीरपुरा माध्यमिक शाला शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...