• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sehore
  • District Officials Had Food With The Children, Gave Information About The Schemes Of The Government

अनुसूचित जाति, जनजाति छात्रावासों का निरीक्षण:जिले के अधिकारियों ने बच्चों के साथ किया भोजन, सरकार की योजनाओं के बारे में दी जानकारी

सीहोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले भर में अनुसूचित जाति, जनजाति छात्रावासों का जिले के अधिकारियों ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान विद्यार्थियों को विभिन्न छात्रवृत्ति और जनहितेषी योजनाओं की जानकारी दी गई। साथ ही कई गतिविधियां आयोजित की गई। छात्रावासों में अधिकारियों ने छात्रों के कक्ष, भोजन कक्ष और छात्रावास परिसर का निरीक्षण किया। छात्रावासों में पेयजल, राशन सामग्री, विद्युत, शौचालय, बिस्तर, छात्रों के रहने सहित सभी व्यवस्थाओं की जानकारी ली।

छात्रों को दी विभिन्न योजनाओं की जानकारी

छात्रावासों के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने छात्रों को केंद्र और राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। अधिकारियों ने पोस्ट मेट्रिक, प्री मेट्रिक, प्रतिभावान छात्रवृत्ति सहित स्कूल स्तर पर दी जाने वाली सभी छात्रवृत्तियों के साथ ही विदेश अध्ययन के लिए दी जाने वाली छात्रवृत्ति की जानकारी दी।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अंतर्गत मिलने वाली राशन सामग्री, मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति और प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत नवीन व्यवसाय प्रारंभ करने एवं व्यवसाय के विस्तार के लिए दिए जाने वाले ऋण, प्रधानमंत्री उज्ज्वला 2.0 के तहत पात्र हितग्राहियों को मिलने वाले लाभ संबंधी जानकारी दी। इसके साथ ही छात्रों को सीएम हेल्पलाइन के संबंध में भी जानकारी दी।

छात्रों से किया गया संवाद

छात्रावासों में निरीक्षण पर पहुंचे अधिकारियों ने छात्रों से चर्चा की। उन्होंने छात्रों से छात्रावास का वातावरण, छात्रों के लिए उपलब्ध सभी सुविधाओं और उनकी पढ़ाई के संबंध में जानकारी ली। अधिकारियों ने छात्रावास के बच्चों को सभी विषयों के सतत अध्ययन के लिए प्रोत्साहित किया।

उन्होंने बच्चों को पढ़ाई में विशेष ध्यान देने और मेहनत तथा लगन से पढ़ाई करने के लिए प्रेरित भी किया। उन्होंने छात्रों को ज्ञानवर्धक जानकारी और तात्कालिक घटनाओं की जानकारी के लिए छात्रावास में प्रतिदिन दैनिक समाचार पत्र पढ़ने के लिए कहा। छात्रों ने अधिकारियों के साथ संवाद को बहुत सार्थक उपयोगी और मार्गदर्शी बताया।

खबरें और भी हैं...