• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sehore
  • Failed Students In UG Second Year Will Have To Study From The New Policy, First Year's Marksheet Will Be Submitted

ग्रेडिंग वाली दी जाएगी:यूजी सेकंड ईयर में फेल छात्रों को नई पॉलिसी से पढ़ना होगा पहले साल की मार्कशीट जमा होगी

सीहोर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

यूजी सेकंड ईयर में फेल जिले के 2 हजार से ज्यादा छात्र दो महीने से गफलत में उलझे थे कि उन्हें किस शिक्षा नीति से दोबारा पढ़ाई करना है। एक नए आदेश से इन छात्रों को बड़ी राहत मिल गई है। दरअसल इन छात्रों को सेकंड ईयर में दोबारा एडमिशन तो मिल जाएगा, लेकिन उन्हें अब नई एजुकेशन पॉलिसी से पढ़ाई करना होगी। ये वे छात्र हैं जिन्होंने एडमिशन 2020 में लिया था। फर्स्ट ईयर 2021 में ही पास कर चुके थे, लेकिन फर्स्ट ईयर में उन्होंने पुरानी पॉलिसी से पढ़ाई की थी।

इसलिए मार्कशीट भी उसी आधार पर बनी थी। अब कुल प्राप्त अंकों को ग्रेड व पाइंटर में तैयार कर नए सिरे से मार्कशीट बनेगी। सेकंड ईयर में चूंकि ये छात्र फेल हो चुके हैं, इसलिए उस मार्कशीट का कोई महत्व नहीं है। उच्च शिक्षा विभाग के अनुसार इन छात्रों को नए सिरे से सेकंड ईयर में एडमिशन लेना होगा। इनकी फर्स्ट ईयर की पुरानी मार्कशीट जमा करवा कर नई जारी की जाएगी जिसमें ग्रेडिंग होगी।

...और ये भी बदलेगा

  • सेकंड ईयर में पुराने कोर्स को छोड़ इस बार नए सिलेबस से पढ़ाई करना होगी।
  • सेकंड ईयर में एक वोकेशनल विषय के साथ ही फर्स्ट ईयर का एक वोकेशनल विषय भी इस साल पढ़ना होगा और उसकी परीक्षा भी देना होगी।
  • इस बार प्रोजेक्ट या इंटर्नशिप में से एक को चुनना होगा। यह नई एजुकेशन पॉलिसी के तहत फर्स्ट में लागू है। जो इन छात्रों को इस साल करना होगा।
  • परीक्षा पैटर्न पूरी तरह बदल जाएगा। इस बार लघु उत्तरीय, दीर्घ उत्तरीय व अति दीर्घ उत्तरीय प्रश्न हल करना होंगे।
  • फाउंडेशन की परीक्षा इस बार इन छात्रों को तीन नहीं चार विषयों के लिए देना होगी। यह परीक्षा ओएमआर शीट पर होगी।

बड़ा सवाल... अगले साल यूूजी के फाइनल ईयर में फेल छात्रों का क्या होगा
इस साल जो छात्र फाइनल ईयर में है और फरवरी में मुख्य परीक्षा देंगे, उनके सामने भी यह संकट आएगा। क्योंकि इस समस्या का स्थाई समाधान अब तक नहीं निकाला गया है। बीए, बीकॉम या बीएससी फाइनल ईयर में जो छात्र फेल होंगे उन्हें उसी क्लास में एडमिशन लेना होगा। तब तक फाइनल ईयर में भी नई शिक्षा नीति लागू हो जाएगी, तो फिर सवाल उठेगा कि आखिर उन छात्रों का क्या होगा। क्योंकि उन्होंने तो फर्स्ट और सेकंड ईयर ही पुरानी पद्धति से पास की है, तो फिर क्या उनकी फर्स्ट और सेकंड ईयर यानी दोनों साल की मार्कशीट नई बनाई जाएंगी।

खबरें और भी हैं...