आग लगने से बढ़ा भरण-पोषण का संकट:किसान की दो मुर्रा भैंस और दो जर्सी गाय बुरी तरह जलीं, मौके पर हुई मौत

सीहोर2 महीने पहले

जिले के गांव छापरी कलां में अचानक आग लगने से एक परिवार को भारी नुकसान हुआ है। परिवार का पालन पोषण दूध बेचकर होता था। आग लगने से उनके चार मवेशियों की मौत हो गई है। इनमें दो मुर्रा भैंस और दो जर्सी गाय बुरी तरह जल गई, जिससे भैंस और गाय की मौके पर ही मृत्यु हो गई।

ग्रामीणों ने मिलकर जैसे तैसे आग पर काबू पाया। इस बात की जानकारी ग्रामीणों ने समाजसेवी एमएसमेवाड़ा को दी। उन्होंने मौके पर पहुंचकर डॉक्टर, पशुपालन विभाग और पटवारी व पीड़ित के बेटे महेन्द्र मेवाड़ा ने पुलिस प्रशासन को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा बनाया गया।

लोगों ने मुख्यमंत्री और जिला प्रशासन से मांग की है कि पीड़ित राय सिंह मेवाड़ा और महेंद्र मेवाड़ा को आरवीसी राजस्व 6-4 में राहत राशि मिले। आग लगने से चार मवेशी की मौत हो गई है, जिनमें दो दुधारु मुर्रा भैंस कीमत 75-75 हजार रुपए थी, जिससे राय सिंह पिता नारायण सिंह को छति हुई और दो जरसी दुधारू गाय से महेन्द्र मेवाड़ा पिता राय सिंह को भी छति हुई है। चारों मवेशी की मौके पर ही मौत हो गई है। इस परिवार का पालन पोषण इन भेसों व गायों का दूध बेचकर ही चल रहा था। अ

मौके पर यह लोग रहे मौजूद
मौके पर पटवारी, पुलिस और डॉक्टर पशुपालन, गांव के चौकीदार रमेश मालवीय, ग्राम के पंच ग्राम छापरी कला की सरपंच तेजू बाई मालवीय ने पंचनामा पर हस्ताक्षर किए।

खबरें और भी हैं...