श्रावण महीने में पार्थिव शिवलिंग निर्माण:24 जुलाई से 31 जुलाई तक बरसेगा शिवमहापुराण कथा का रस

सीहोर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लिंग थाप विधिवत् कर पूजा, शिव समान मोहि प्रिय नहीं दूजा, रामचरित मानस की इन्हीं पंक्तियों को चरितार्थ करने की कोशिश इस सावन के पवित्र माह में हिन्दू उत्सव समिति के तत्वाधान में दिव्य और भव्य अष्ट दिवसीय आयोजन नगर के पावर हाऊस चौराहे स्थित रूकमणी गार्डन में होने जा रहा है।

इस आयोजन में प्रतिदिन श्रद्धालुओं ने पार्थिव शिवलिंगों का निर्माण के साथ शिवमहापुराण कथा का रस भी बरसेगा। रूकमणी गार्डन में यह आयोजन 24 जुलाई से 31 जुलाई तक जारी रहेगा। 24 जुलाई सांय 4 बजे कलश यात्रा प्रारंभ होगी। 25 जुलाई से प्रतिदिन प्रात: 10 बजे से 12 बजे तक वैदिक मंत्रोंच्चारण के साथ पार्थिव शिवलिंग निर्माण, पूजन व रुद्राभिषेक होगा।

श्रावण माह के द्वितीय सोमवार 25 जुलाई से प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से सांय 5 बजे तक शिवपुराण कथा का वाचन पं.शैलेश तिवारी के श्रीमुख से किया जाएगा। प्रतिदिन निर्मित होने वाले पार्थिव शिवलिंगों को पवित्र सीवन नदी में विसर्जन किया जाएगा।

हिन्दू उत्सव समिति के अध्यक्ष आशीष गुप्ता ने बताया कि आयोजन को भव्य और दिव्य बनाने के लिए आयोजन समिति द्वारा तैयारियां शुरू कर दी गई है। शीघ्र ही शहर के सभी प्रबुद्ध नागरिकों के साथ बैठक आयोजित कर कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जाएगा। गुप्ता ने बताया कि शहर के सभी वर्गों को शामिल कर इस कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। जिसमें प्रतिदिन शिव की अराधना पूरे श्रद्धा और विश्वास के साथ उत्साह से की जाएगी।