माता की आराधना:गरबा के लिए तीन जगह दे रहे प्रशिक्षण

सीहोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

26 सितंबर से शुरू हो रहे नवरात्रि पर्व पर पूरा शहर गरबे के रंग में रंग जाएगा, मां के भक्ति में गीतों पर भक्त जमकर गरबा करेंगे। इस साल शारदीय नवरात्रि के अवसर पर नगर गरबा महोत्सव का आयोजन होगा, जिसकी तैयारियां शुरू हो गई हैं। नगर में कई जगहों पर गरबे का प्रशिक्षण चल रहा है, जिसमें युवतियां और महिलाएं बढ़-चढ़कर भाग ले रही हैं। प्रशिक्षण के दौरान प्रतिभागियों को प्रशिक्षिकों द्वारा गरबे की स्टेप सिखाई जा रही हैं। नवरात्रि में देवी मां के दरबार में गरबा काफी महत्व रखता है।

कहा जाता है कि जब मां दुर्गा ने महिषासुर पर आक्रमण किया था तो उनका 9 दिनों तक युद्ध चला था। 10 वें दिन उन्होंने महिषासुर का वध कर दिया था इसी खुशी में मां के भक्तों ने नृत्य किया था, जिसे गरबा कहते है। इसी को लेकर इस साल नगर में जगह-जगह पर गरबा का आयोजन किया जाएगा। इनमें बस स्टैंड स्थित टाउन हॉल, चाणक्यपुरी में कृष्णा सेलिब्रेशन गार्डन और श्री रामचंद्र चौबे स्मृति शिक्षा निकेतन परिसर में बड़े स्तर पर गरबा महोत्सव का आयोजन होगा। इन तीनों ही जगहों पर प्रतिभागियों को गरबे का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

टाउन हॉल पहुंचे विधायक
टाउन हॉल में होने वाले गरबा महोत्सव से पहले प्रतिभागियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यहां पर में भी 30 सितंबर से 2 अक्टूबर शाम 7 बजे से गरबे का आयोजन किया जाएगा। गुरुवार को समाज सेवी अरूणा सुदेश राय और सोनल प्रिंस राठौर ने मौजूद रहकर प्रतिभागियों का मनोबल बढ़ाया। इस दौरान विधायक सुदेश राय भी प्रशिक्षण स्थल पर पहुंचे और प्रशिक्षण की सराहना की। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन होने से हमारी संस्कृति सहित परंपराओं को पहचान मिलती है जो आने वाली पीढ़ी के लिए एक मार्गदर्शक बनने में सहायक होती है, स्वयं माता जगदंबा के आशीर्वाद से बड़ी संख्या में बालिकाएं पहुंच रही हैं, यही कारण है कि प्रशिक्षण में प्रशिक्षणार्थियों की संख्या लगातार बढ़ रही हैं। गरबा महोत्सव के दौरान हाई स्कूल एवं हाई सेकंडरी स्कूल में 95 प्रतिशत अंत प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों को सम्मानित किया जाएगा।

हजारों प्रतिभागी उत्साह के साथ सीख रहे हैं गरबा स्टेप्स
चाणक्यपुरी स्थित कृष्णा सेलिब्रेशन गार्डन में होने वाले गरबा महोत्सव के लिए प्रतिभागियों को गरबा प्रशिक्षक अमित राय द्वारा गरबा की नई-नई स्टेप सिखाई जा रही है। गुरुवार को मुख्य अतिथि रेखा राय एवं पूर्व नपाध्यक्ष अमीता जसपाल अरोरा ने मां अंबे की प्रतिमा के समक्ष पूजन अर्चन कर गरबा प्रशिक्षण की शुरुआत कराई। गरबा का यह नि:शुल्क प्रशिक्षण कई दिनों से लगातार जारी है, जिसमें हजारों की संख्या में प्रतिभागी उत्साह और उमंग के साथ गरबा रिहर्सल कर रहे हैं। मां अंबे की अराधना का प्रतीक गरबा महोत्सव तैयारियां शुरू हो गई है।

सखी सहेली डांडिया रास समिति करेगी पांच दिवसीय गरबा महोत्सव
वहीं सखी सहेली डांडिया रास समिति पिछले 14 सालों से गरबा महोत्सव का आयोजन करती आ रही है। कोरोना संक्रमण काल के दौरान पिछले 2 साल समिति द्वारा ऑनलाइन गरबा महोत्सव का आयोजन कराया था। अब इस साल पारंपरिक तरीके से गरबा महोत्सव कराया जाएगा। इसको लेकर समिति की बबीता परमार, ग्रीष्मा शाह, वीणा गोयल, संध्या धारीवाल, रिंकू सोलंकी, संध्या गोयल, मधु चौधरी ने बताया कि इस वर्ष श्री रामचंद्र चौबे स्मृति शिक्षा निकेतन परिसर में दिनांक 27 सितंबर 1 अक्टूबर तक विभिन्न प्रतियोगिताओं के साथ गरबे का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान पहले दिन विद्यालयीन प्रस्तुतियां, दूसरे दिन मेरा रंग दे बसंती चोला विषय पर महिला और बालिका समूह नृत्य की प्रस्तुतियां रहेगी। तीसरे दिन राजपूताना बाईसा का शाही लहजा में महिला एवं बालिका समूह नृत्य, चौथे दिन ग्रुप गरबा प्रतियोगिता रहेगी और पांचवें दिन समापन के साथ ओपन गरबा आयोजित किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...