• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sehore
  • Mother Lakshmi Went Out On A City Tour With The Family Of Lord Shiva, Performed Aarti With A Tashe

चल समारोह:भगवान शिव के परिवार के साथ नगर भ्रमण पर निकलीं मां लक्ष्मी, ताशे से की आरती

सीहोर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के बड़ा बाजार स्थित शिव मंदिर समिति के तत्वावधान में नवनिर्मित श्री पिपलेश्वर महादेव मंदिर में पांच दिवसीय प्राण-प्रतिष्ठा एवं यज्ञ महोत्सव के दूसरे दिन शनिवार को श्रद्धालुओं ने कलश यात्रा निकाली। कलश यात्रा में भगवान शिव परिवार के अलावा सत्यनारायण मंदिर में स्थापित होने वाली माता लक्ष्मी की मूर्ति भी साथ में थी। शाम को यज्ञ शाला में दिव्य अनुष्ठान का आयोजन भी किया गया।

यात्रा में पंडित प्रदीप मिश्रा, हरिराम दास महाराज और हर्षित शास्त्री शामिल थे । कलश यात्रा में उज्जैन के कलाकारों ने ताशे से आरती की। चल समारोह में भगवान शिव और माता पार्वती की झांकी भी सजाई गई थी। शाम को यज्ञ शाला में मंडप प्रवेश, मंडप प्रतिष्ठा, मंडप देवता, अग्रि स्थापना, प्रतिमा जलाधिवास आदि की धार्मिक क्रियाएं आदि की गई।

यज्ञ का अनुष्ठान जरूरी
यज्ञाचार्य पंडित रमेश पारीक ने बताया कि दिव्यता के लिए यज्ञ का अनुष्ठान जरूरी है। हमारे ऋषियों ने यज्ञ की परंपरा को शुरू किया। हमारे ऋषि मुनि बहुत ही उच्च कोटि के वैज्ञानिक थे। उन्होंने बताया कि यज्ञ के पीछे अध्यात्मिक कारण के साथ कई वैज्ञानिक कारण भी हैं। जब हम यज्ञ करते हैं तो बहुत सारे मंत्रों का उच्चारण किया जाता है। इन मंत्रों के प्रभाव से नकारात्मक शक्तियां खत्म हो जाती हैं। जहां पर भी यह हवन यज्ञ किया जाता है वहां दैवीय शक्तियों का वास होता है ।

खबरें और भी हैं...