• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sehore
  • Ointment Applied On The Entire Leg With The Wound In The Trauma Center, The Daughter Demanded Action

सीहोर में इलाज की लापरवाही से मौत:ट्रामा सेंटर में घाव के साथ पूरे पैर पर लगाया मलहम, बेटी ने कार्रवाई की मांग की

सीहोर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीहोर में ट्रामा सेंटर की लापरवाही से एक मरीज की मौत हो गई। दरअसल, मरीज 4 दिन पुराने घाव का इलाज कराने अस्पताल गया हुआ था। वहां उसके पृष्ठभाग पर हुए घाव के लिए पूरे पैर पर मल्हम लगा दिया और पट्टी भी कर दी। जिससे 24 घंटे में ही उसका पैर पक गया। मरीज की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए वह पहले आष्टा, फिर हमीदिया और वहां से एम्स तक गया। लेकिन वह बच नहीं सका। 7 दिन बाद ही उसकी मौत हो गई।

जिला मुख्यालय के पास बिजलोन गांव निवासी मनोहर वंशकार उम्र 50 साल मजदूरी करता था। जो 23 अगस्त को पृष्ठभाग में हुए घाव के कारण ट्रामा सेंटर में दिखाने आया था। डॉक्टर अनुराग ने उसका चैकअप करने के बाद कहा कि छोटा सा घाव है, ठीक हो जाएगा। पट्टी कराकर घर ले जाओ।

परिजनों ने बताया कि भर्ती करने से पहले छोटा सा घाव था, लेकिन ड्यूटी पर उपस्थित चिकित्सक ने पूरे पांव में मलहम लगा कर पट्टी कर दी, जिससे पुरा पांव सड़ गया और मनोहर की मौत हो गई। जरा-सी लापरवाही से पूरे शरीर में मवाद फैलने से कीडनी फैल हो गई। मनोहर की 4 बेटियां और 3 बेटे हैं। परिवार में वो ही अकेला कमाने वाला गरीब मजदूर था।

मनोहर की बेटी प्रीति ने थाना कोतवाली में आवेदन दिया है कि उसके अनुसार सुमेग दवा को पूरे पैर और घाव परमल दी । जिसके बाद उनके पैर और पेट में सूजन आ गई । हमने डाक्टर को दिखाया तो उन्होंने भर्ती किया। मृतक की बेटी का कहना है कि 7 दिन बाद 31 अगस्त को मेरे पिता की मृत्यु ट्रामा सेंटर की लापरवाही के कारण हो गई।