महिला हुई घरेलू हिंसा की शिकार:बाथरूम में बंद पत्नी पर पेट्रोल डालकर आग लगाई, भाेपाल रेफर

सीहोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मायके में रह रही एक 25 वर्षीय विवाहिता को उसके पति ने पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी और भाग। गंभीर रूप से झुलसी विवाहिता को प्राथमिक उपचार के बाद भोपाल रेफर किया गया। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर आरोपी पति की तलाश शुरू कर दी है। घटना शुक्रवार की है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार कस्बा निवासी दृष्टिहीन महिला कलाबाई मालवीय की 25 वर्षीय पुत्री दीक्षा का विवाह उज्जैन के राजेश मालवीय के साथ हुआ था। इसके बाद दोनों के बीच अनबन होने लगी जिससे दीक्षा अपने मायके में आकर रहने लगी थी।

परिजनों की मानें तो आरोपी पति आए दिन यहां आ धमकता था और दीक्षा के साथ मारपीट करता था। 15 दिन पहले भी उसने यहां आकर दीक्षा के साथ मारपीट की थी। इसमें उसको सिर में चोट आई थी। मामले में दीक्षा ने अपने पति के खिलाफ थाना कोतवाली में प्रकरण भी दर्ज कराया था।

पड़ोसियों ने बचाया : शुक्रवार को फिर आरोपी सीहोर आया और इन दोनों के बीच फिर से विवाद हुआ। आरोपी अपने साथ पेट्रोल लेकर आया था। विवाद को टालने के लिए दीक्षा बाथरूम में चली गई। तभी आरोपी राजेश ने बाहर से दरवाजे की कुंडी बंद की और ऊपर से छत विहीन बाथरूम में पेट्रोल फेंका और माचिस की तीली जलाकर आग लगा दी।

इससे दीक्षा गंभीर रूप से झुलस गई। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से भाग निकलने में कामयाब हो गया। दीक्षा की चीख पुकार सुनकर पड़ोसी पहुंचे और आग बुझाकर उसे जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद भोपाल रेफर कर दिया गया। पुलिस ने आरोपी पति के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है

खबरें और भी हैं...