• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sehore
  • The Water Level Of Narmada Is 5 Feet More Than Last Year, The Ghats Are Also Half Submerged, So 300 Policemen And SDRF Team Will Be Stationed At Aonlighat.

पितृमोक्ष अमावस्या कल:नर्मदा का जलस्तर पिछले साल से 5 फीट ज्यादा, घाट भी आधे डूबे इसलिए आंवलीघाट पर 300 पुलिसकर्मी और एसडीआरएफ की टीम तैनात रहेगी

सीहोर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पितृमोक्ष अमावस्या पर आंवलीघाट पर स्नान को लेकर प्रशासन को इस बार काफी अलर्ट रहना होगा। इसका कारण है कि नर्मदा का जलस्तर पिछले साल की तुलना में करीब 5 फीट ज्यादा है। इसका कारण ये है कि इस साल लगातार बारिश से बरगी और तवा के गेट खुले थे। ऐसे में प्रदेशभर से आने वाले स्नानार्थियों के लिए यहां पर सुरक्षित स्नान कराने की व्यवस्थाएं कराई जा रही हैं। अभी हालात ये हैं कि घाट भी आधे पानी में डूबे हुए हैं। इसलिए स्नान करने आने वाले हजारों लोगों के लिए जगह कम पड़ेगी।

500 मीटर लंबी बेरिकेडिंग ताकि लोग हादसों का शिकार न हों
एसपी मयंक अवस्थी ने बताया कि घाटों पर अधिक पानी होने से 500 से 600 मीटर तक के क्षेत्र में बेरिकेडिंग की जा रही है ताकि लोग सुरक्षित स्नान कर सकें। यहां पर 300 पुलिसकर्मियों का बल तैनात रहेगा। साथ ही एसडीआरएफ की टीम तैनात रहेगी। यहां पर गोताखोर भी रहेंगे जो स्नानार्थियों पर नजर रखेंगे।

इन तीन जगहाें पर पार्किंग की व्यवस्था

इस बार लगातार बारिश होने से वाहनों को खड़ा कराने में दिक्कतें होंगी। हालांकि इसका भी समाधान निकाला गया है। इस बार तीन जगहों पर वाहनों को खड़ा कराया जाएगा।

मछुआ भवन के पीछे: आंवलीघाट के पास स्थित मछुआ भवन के पीछे वाहनों को खड़ा कराने के लिए यहां पर कोपरा और मुरम डाली जा रही है। यहां पर कीचड़ से वाहनों को खड़ा कराने में परेशानी ना हो, इसके लिए इसे तैयार किया जा रहा है। यहां पर एक समय में 700 वाहनों को खड़ा कराया जा सकता है।
मरदानपुर जोड: मरदानपुर जोड़ से मरदान गांव तक भी वाहनों को खड़ा कराया जाएगा। इस पार्किंग स्थल पर एक साथ 500 वाहनों को खड़ा कराया जा सकता है। इसके लिए यहां पर भी व्यवस्था कराई जा रही है। यह स्थल आंवलीघाट से करीब डेढ़ किमी दूर है।
पांगरा के पास भी रहेगी पार्किंग: टीआई रेहटी अरविंद कुमरे ने बताया कि पांगरा और पान गुराड़िया रोड पर भी वाहनों को खड़ा कराया जाएगा। इसके लिए यहां पर व्यवस्था कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि यहां पर एक साथ करीब 400 वाहनों को खड़ा कराया जा सकता है। यह आंवलीघाट से करीब ढाई किमी दूर है।

खबरें और भी हैं...