ज्योतिर्लिंग का निर्माण कर अभिषेक किया:आज देवी का फूलों से होगा विशेष शृंगार

सीहोरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के विश्रामघाट मां चौसठ योगिनी मरीह माता मंदिर में स्कंद माता की आराधना के अलावा श्रद्धालुओं ने एक साथ 12 पार्थिव ज्योतिर्लिंग के दर्शन, पूजन और आराधना की। इसके अलावा मंदिर में चल रहे सप्तशती के पाठ के अलावा हवन आदि का आयोजन भी किया जा रहा है।

सोमवार को पंडित उमेश दुबे ने पूर्ण विधि-विधान से सुबह मां देवी के मंत्रों के साथ हवन कराया और उसके बाद आरती की गई। इस मौके पर जिला संस्कार मंच की ओर से गोविंद मेवाड़ा, मनोज दीक्षित मामा, राकेश शर्मा, सुभाष कुशवाहा, रितेश अग्रवाल, कृष्णा मेवाड़ा आदि शामिल थे।

आरती के बाद ज्योतिर्लिंग का निर्माण
सोमवार को सुबह माता की आरती के बाद 12 पार्थिव ज्योतिर्लिंग का निर्माण कर अभिषेक किया गया। इस मौके पर पंडित श्री दुबे ने बताया कि नवरात्रि पर्व पर हर दिन देवी के नौ अलग-अलग स्वरूपों की आराधना की जाती है। आषाढ़ पंचमी है। इस तिथि को मां स्कंदमाता की पूजा-अर्चना का विधान है। स्कंदमाता का स्वरुप बेहद सौम्य और मनमोहक है। इनका वास पहाड़ों पर माना गया है।

खबरें और भी हैं...