• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Seoni
  • Picked Up His Own Protector In The Trunk And Slammed, Trampled Under His Feet; Death On The Way To Hospital

मुंह से केला छीनने पर हाथी को आया गुस्सा:अपने ही संरक्षक को सूंड में उठाकर पटका, पैर तले रौंदा; अस्पताल ले जाते समय मौत

सिवनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिवनी जिले में एक हाथी ने अपने ही संरक्षक को पैरो तले कुचल दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि महावत और एक संरक्षक हाथी को लेकर नगर में घूम रहा था। इस दौरान एक डंपर चालक ने हाथी को केला खिलाना चाहा। लेकिन उसके संरक्षक ने केला ले लिया। जिसके चलते हाथी को इतना गुस्सा आया कि उसने संरक्षक साथी को सूंड से लपेट कर जमीन में पटका और उसके ऊपर पैर रख दिया। जिससे उसकी मौत हो गई।

घटना की सूचना स्थानीय लोगों ने बंडोल पुलिस को दी। जहां थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर ने मौके पर पहुंचे। यहां गंभीर रूप से जख्मी 56 वर्षीय भरत वासुदेव पिता राजाराम वासुदेव निवासी दमोह को इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। जहां बीच रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा जाएगा।

राहीवाडा के रेस्टोरेंट के पास हुई घटना

बंडोल थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर ने बताया कि सिवनी से बंडोल हाथी को अपने साथ में लेकर हाथी के दल में शामिल लगभग 13 लोग बंडोल पहुंचे। बंडोल पहुंचने से पहले राहीवाड़ा के समीप एक रेस्टोरेंट पहुंचे। तभी हाथी के पास चार पांच लोग मौजूद थे। कुछ लोग आगे हाथ देकर राहगीरों से दक्षिणा मांग रहे थे।

इसी दौरान बंडोल से सिवनी दिशा की ओर एक डंपर जा रहा था। डंपर में केले भरे हुए थे। डंपर चालक ने दूर से ही हाथी को देखकर केला खिलाने की इच्छा से डंपर को वहां रोका। जहां डंपर चालक ने केला हाथी को देने लगा। इसी बीच हाथी के पास नीचे खड़े उनके साथी व्यक्ति ने केला को अपने हाथ में ले लिया। हाथी को केला नहीं मिलने से वह क्रोधित हो उठा और एक झटके में ही भरत को सूंड में लपेट कर जमीन में पटक दिया।

लोगों ने बचाने का किया प्रयास

यह घटना होते ही वहां हड़कंप मच गया। पास के लोगों ने हाथी से दूर भरत को खींचकर रखा। इसकी सूचना बंडोल थाना को जैसे लगी उन्होंने उपचार के लिए जख्मी व्यक्ति को जिला अस्पताल भिजवाया। बीच रास्ते में ही भरत ने दम तोड़ दिया। मृतक के पुत्र अनिल वासुदेव दमोह को बुलाकर मर्ग कायम किया है।

खबरें और भी हैं...