सिमरिया में 2 आदिवासियों की मौत का मामला:घटना की जांच को लेकर एसआईटी टीम पहुंची सिमरिया, सूक्ष्मता से कर रही जांच

सिवनी3 महीने पहले

सिवनी के कुरई थाना अंतर्गत सिमरिया में बीते दिनों गोवंश के शक पर 2 आदिवासियों के साथ मारपीट की गई थी। जिसके चलते उनकी मौत हो गई थी। जिसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिवनी एसपी को हटाने के निर्देश दिए।

वहीं मध्यप्रदेश गृह विभाग के सचिव गौरव राजपूत ने बादलपार चौकी के सिमरिया में 2 व 3 मई की दरमियानी रात हुई घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय विशेष दल गठित किया है। दल में गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव राजेश राजौरा, राज्य औद्योगिक सुरक्षा बल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अखेतो सेमा, माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल के सचिव श्रीकांत भनोट को शामिल किया गया है। जो आज दोपहर में सिवनी के सर्किट हाउस पहुंचे।

दोपहर सिमरिया के लिए रवाना हुआ दल

दोपहर में सिवनी पहुंचने के बाद जांच दल सूक्ष्मता से जांच करने के लिए सिमरिया रवाना हुआ है।

ये रहेगी दो दिनों की दिनचर्या

बीते दिन 14 मई को गृह विभाग अपर मुख्य सचिव के निजी सहायक के ओर से जारी अधिकृत कार्यक्रम के अनुसार 15 व 16 मई को दल सिवनी का दौरा कर जांच की कार्रवाई करने पहुंच गया। तय कार्यक्रम के अनुसार आज 15 मई को दोपहर एसआईटी जांच दल सिवनी पहुंचा।

जो 2 बजे से शाम 7.30 बजे तक सिमरिया गांव का भ्रमण करने के साथ बादलपार चौकी और कुरई थाने के अभिलेखों का परीक्षण करने रवाना हो गया है। 7.30 बजे दल वापस सिवनी पहुंचकर रात्रि विश्राम करेगा।

अगले दिन 16 मई को सुबह 10 बजे दल सर्किट हाउस में जनप्रतिनिधियों से मुलाकात करेगा। सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक पुलिस कंट्रोल रूम में कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, एडीएम, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, एसडीओपी के साथ घटना के संबंध में बैठक करेगा।

साथ ही भोजन के बाद दोपहर 2 बजे से घटना की गोपनीय सूचना के संबंध में आमजनों से चर्चा करेगा। वहीं शाम 4 बजे सिवनी से दल वापस भोपाल के लिए रवाना हो जाएगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के ओर से एसआईटी के गठन के निर्णय का सिवनी विधायक दिनेश राय मुनमुन ने स्वागत किया है। साथ ही कहा है कि सिमरिया मामले की जांच के संबंधित विभाग के अधिकारियों को हटाए जाने का निर्माण प्रशासनिक क्षमता को साबित करता है। एसआईटी टीम फिलहाल सिमरिया में है, जो गोपनीय जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...