• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shahdol
  • Brother Said Brought Daughter For Shooting, Got A Call From Delhi Army, Mother, Reach Early With Wife

MP के शहडोल में है रावत की ससुराल:1985 में रियासतदार के घर हुई शादी, ससुर कांग्रेस के दो बार विधायक रहे

शहडोल/भोपाल/इंदौर/ ग्वालियर2 महीने पहले

तमिलनाडु में कुन्नूर के जंगलों में बुधवार दोपहर 12:20 बजे सेना का Mi-17V5 हेलिकॉप्टर क्रैश में CDS बिपिन रावत और पत्नी मधुलिका का निधन हो गया। दोनों का मध्यप्रदेश से गहरा नाता रहा था। रावत आर्मी पर्सन होने के साथ पारिवारिक और पढ़ाई को लेकर भी कई बार MP आ चुके थे। आइए, जानते हैं उनके मध्यप्रदेश से जुड़ाव, पढ़ाई और पारिवारिक रिश्ते को...

मधुलिका सिंह के भाई यशवर्धन सिंह ने बताया कि उनकी 10 दिन पहले ही जीजा से बात हुई थी। उन्होंने जनवरी 2022 में शहडोल आने का वादा किया था। शादी के बाद दीदी का शहडोल आना कम होता था, लेकिन वह लगातार संपर्क में रहती थीं। उन्होंने 2 दिन पहले बात कर जल्द ही शहडोल आने की इच्छा जताई थी। उन्होंने कहा कि उन्हें और पत्नी को लेने के लिए एयर फोर्स का विमान भोपाल पहुंच रहा है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी से मनोविज्ञान की पढ़ाई करने वालीं मधुलिका रावत आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन (AWWA) की अध्यक्ष थीं। वे सेना के जवानों की पत्नियों, बच्चों और आश्रितों की खुशहाली के लिए काम करती थीं। मधुलिका ग्वालियर के सिंधिया स्कूल की छात्रा भी रही हैं। सेनाध्यक्ष बनने के बाद जनरल रावत के साथ वह 3 साल पहले सिंधिया स्कूल के कार्यक्रम में ग्वालियर शिरकत करने पहुंची थीं। इनकी आगे की पढ़ाई लखनऊ और दिल्ली में हुई।

जनरल बिपिन रावत और मधुलिका सिंह रावत।
जनरल बिपिन रावत और मधुलिका सिंह रावत।

इंदौर से रावत का गहरा नाता था
मेरठ विश्वविद्यालय से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त रावत का इंदौर से भी गहरा नाता रहा है। वह महू में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। उन्होंने रक्षा और मैनेजमेंट विषय में एमफिल की डिग्री इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय से ही प्राप्त की थी।

मधुलिका ने जल्द ही शहडोल आने का कहा था।
मधुलिका ने जल्द ही शहडोल आने का कहा था।

राजाबाग में बीता मधुलिका का बचपन
सोहागपुर के रहने वाले गुलाबचंद गुप्ता का कहना है कि मधुलिका के पिता राजा थे, वाे ताे रानी जैसे रहती थीं। जब उनकी शादी हुई तो क्या कहना था। मधुलिका का बचपन राजबाग के साथ ही पैतृक घर सोहागपुर गढ़ी में बीता है।

मधुलिका का बचपन सोहागपुर में बीता था।
मधुलिका का बचपन सोहागपुर में बीता था।

शहडोल से दिल्ली रवाना होंगी मधुलिका की मां
चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत का ससुराल शहडोल जिले के सोहागपुर में है। उसकी सास अभी शहडोल में थीं, इसलिए वे वहीं से जबलपुर होते हुए गुरुवार को दिल्ली के लिए रवाना होंगी। रावत की पत्नी मधुलिका सिंह रियासतदार कुंवर मृगेंद्र सिंह की मंझली बेटी थी। मधुलिका की शादी जनरल बिपिन रावत से 1985 में हुई थी। मधुलिका के पिता कांग्रेस से सोहागपुर से 1967 और 1972 में दो बार विधायक रहे। परिवार की माने तो मधुलिका 2012 में अंतिम बाद शहडोल आई थीं।

हादसे के बाद भोपाल से दिल्ली रवाना हुए मधुलिका सिंह रावत के भाई यशवर्धन सिंह।
हादसे के बाद भोपाल से दिल्ली रवाना हुए मधुलिका सिंह रावत के भाई यशवर्धन सिंह।
मधुलिका का शहडोल स्थित पुराना घर।
मधुलिका का शहडोल स्थित पुराना घर।

जिस तरह से बुलाया, गंभीर बात लग रही
हर्षवर्धन ने दिल्ली रवाना होने से पहले कहा कि हादसे के वक्त वे भी रावत के साथ हेलिकॉप्टर में सवार थीं। हमें आधिकारिक रूप से तो कुछ नहीं बताया गया, लेकिन जिस तरह से हमें बुलाया गया, उससे लग रहा है कि कुछ गंभीर बात है। मेरी दो भांजी हैं। बड़ी भांजी दिल्ली में रहती हैं, छोटी मुंबई से आ रही है।

मधुलिका की मां अभी सोहागपुर में इसी घर में थीं।
मधुलिका की मां अभी सोहागपुर में इसी घर में थीं।
जनरल रावत पत्नी मधुलिका के साथ।
जनरल रावत पत्नी मधुलिका के साथ।

ग्वालियर में कई घंटे अचानक रुकना पड़ा था रावत को
देश के पहले CDS बिपिन रावत का तीन महीने पहले ग्वालियर आना भी हुआ था। वैसे तो उनका ग्वालियर में रुकने का कार्यक्रम नहीं था। यहां से विमान बदलकर दतिया पीतांबरा माई के दर्शन कर विशेष अनुष्ठान में भाग लेना था, लेकिन एक इत्तेफाक (खराब मौसम) के कारण कई घंटे उन्हें ग्वालियर एयरबेस पर ही गुजारने पड़े थे। इस दौरान की यादें यहां सेना के अफसरों के पास है। CDS बिपिन रावत ने यहां अफसरों से चर्चा की थी।

हादसे पर सीएम और पूर्व सीएम ने जताया दुख

(इनपुट सुनील सिंह बघेल इंदौर)