• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shahdol
  • If Investigation Is Not Done Immediately, There Will Be Siege, Will Sit On Hunger Strike, Scam In EPF And ESI Of 140 Employees

शहडोल में प्राइवेट कर्मचारियों ने दिया ज्ञापन:तत्काल नहीं हुई जांच तो होगा घेराव, बैठेंगे भूख हड़ताल पर, 140 कर्मचारियों की ईपीएफ एवं ईएसआई में हुआ घोटाला

शहडोल4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्वास्थ्य विभाग मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अंतर्गत, जून 2020 से कार्यरत आउट सोर्स संस्था एक्स सर्विसमैन सिक्योरिटी फोर्स जबलपुर ने लगभग 140 कर्मचारियों की ईपीएफ एवं ईएसआई का घोटाला किया गया है। जिसे तत्काल कमेटी गठित कराकर निराकरण की मांग जिला समाजसेवी एवं असंगठित कामगार कांग्रेस ने की है।

अपर कलेक्टर अर्पित वर्मा को जिला अध्यक्ष श्रीमती नीतू पाण्डेय के नेतृत्व में आज ज्ञापन सौंपकर संस्था के खिलाफ शिकायत कर जांच करा कर प्रभावित कर्मचारियों राहत दिलाए जाने की मांग की गयी है। ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि सुरक्षा गार्ड का ईपीएफ एवं ईएसआई जून 2020 से वर्तमान तक का लंबित है।

वहीं मेन पावर के लगभग 115 कर्मचारियों का ईपीएफ एवं ईएसआई के साथ मासिक मानदेय भी लंबित है। मेन पावर के कर्मचारियों का 18 माह का हिसाब होता है। ठेकेदार एक्स सर्विसमैन सिक्योरिटी फोर्स जबलपुर द्वारा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सह में लेकर 140 कर्मचारियों के परिश्रम में डाका डाला जा रहा है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। दोषी फर्म को ब्लैक लिस्टेड किया जाए।

वर्तमान में रीवा संभाग के सतना में भी ऐसा ही मामला सामने आया है। जहां के कलेक्टर ने तत्परता के साथ जांच शुरू कर दी है। ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि तत्काल इस मामले में पहल नहीं की जाती है तो मजबूरन सीएमएचओ कार्यालय का घेराव एवं जिला प्रशासन के सामने श्रमिकों के न्याय के लिए भूख हड़ताल की बाध्यता होगी। जिसका जवाबदार स्वास्थ्य विभाग के साथ जिला प्रशासन भी होगा।

खबरें और भी हैं...