• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shahdol
  • Intermittent Rain Throughout The Night, Sunshine Blooming In The Morning, Meteorological Department Warned Today Clouds Will Rain With Thunder, Shine And Thunder

शहडोल में बदला मौसम:रात भर हुई रूक-रूककर बारिश, सुबह खिलखिलाती धूप, मौसम विभाग ने चेताया- आज गरज, चमक व आंधी के साथ बरसेंगे बादल

शहडोल4 महीने पहले

शहडोल। जिले में बीते 3-4 दिनों से मौसम ने अजीबोगरीब रुख अपना रखा है। जहां अभी तक इन दिनों में लोगों को कड़ी धूप चुभ रही थी, तो वहीं दिन ढलने के बाद लोग ठिठुरन महसूस कर रहे थे। इसी बीच मौसम में शनिवार शाम से फिर बदलाव आया। जिले भर में शाम से कई स्थानों पर कहीं तेज, कहीं मध्यम तो कहीं फुहार भरी बारिश हुई।

देर रात हुई बारिश
देर रात हुई बारिश

शहडोल में भी रात से रिमझिम बारिश शुरू हुई, जो रूक-रूक कर कई घंटों तक जारी रही। मौसम विभाग के अनुसार, शहडोल जिले के कुछ क्षेत्रों में 26 जनवरी तक मौसम साफ रहने और आज गरज चमक आंधी के साथ बारिश होने की संभावना बताई गई है।

इन दिनों अधिकतम तापमान 25-26 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 6-7 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। सुबह के समय आर्द्रता 65 से 82% और दोपहर में 34 से 46% रहने की उम्मीद है, हवा दक्षिण–पूर्व दिशा में 6.0 से 7.0 किमी/घंटा औसत गति से चलने की संभावना है। आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे।

तापमान में फिर गिरावट की संभावना, विभाग की सलाह

तापमान में फिर से गिरावट आने की संभावना है। मौसम विभाग ने किसानों को सलाह दी है कि, ठंड से फसलों की सुरक्षा के लिए सावधानियां बरतें।

  • फसल अवशेषों को जलाकर खेत के चारों ओर धुआं करें, जल उपलब्धता होने पर खेत की हल्की सिंचाई करें,
  • सल्फर डस्ट (80% डब्ल्यू पी ) 80 ग्राम प्रति पंप की दर से छिड़काव करें।
  • सरसों की फसल में माहू की गतिविधि बढ़ने की संभावना है। जिसके लिए फिप्रोनिल 5% एससी 1.0 मिली प्रति लीटर पानी के साथ घोल बनाकर छिड़काव करें।
  • वर्तमान मौसम की स्थिति में, समय पर बोई गई प्याज की फसल थ्रिप्स के आक्रमण एवं बैंगनी धब्बा रोग के संक्रमण की निरंतर निगरानी की जानी चाहिए और लक्षण दिखाई देने पर डायथेन एम-45 3 ग्राम प्रति लीटर पानी के साथ घोल बनाकर आसमान साफ होने पर छिड़काव करें।
  • मटर में चूर्णी फफूंदी रोग के प्रकोप हो सकता है। नियंत्रण के लिए कराथेन 1 मिली, प्रति लीटर पानी या सल्फ़ेक्स 3 ग्राम प्रति लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करने की सलाह है।
खबरें और भी हैं...