• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shajapur
  • Akodia
  • Before The Prestige Of Life In The Salsalai Police Station Premises, Mahadev Knew The Condition Of The City Today Virajeng Mahadev Family Including Family With Great Pomp

सलसलाई थाना परिसर में आयोजन:अंतिम दौर पर पहुंची महादेव परिवार की प्राण-प्रतिष्ठा की तैयारी, महाआरती के बाद प्रसादी वितरण

अकोदिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सलसलाई थाना परिसर में महादेव परिवार के प्राण-प्रतिष्ठा की तैयारी अब अंतिम दौर में पहुंच चुकी है। साथ ही महादेव भी नगर पधार चुके हैं, जिन्होंने विराजने से पहले शनिवार को नगर के हाल जाने। तो नगरवासियों ने भी महादेव का पलक-पावड़े बिछाकर भव्य स्वागत किया।

शनिवार शाम 6 बजे से 7:30 तक महादेव ने गाजे-बाजे के साथ नगर भ्रमण किया। इसके पूर्व यज्ञाचार्य बलवीर प्रसाद शास्त्री, यज्ञ ब्रह्मा जितेंद्र शास्त्री के मंत्र के साथ दैनिक पूजन के बाद यज्ञ कुंड में अग्नि देवता का वास किया गया और मंत्र के साथ यज्ञ में आहुति देकर देवताओं का आह्वान किया गया।

वहीं भगवान महाकाल को गेहूं, फल सहित फुल, फलों से उन्हें विश्राम अन्नाजी वास कराया गया। इस आयोजन में दिनभर भक्तों की उपस्थिति बनी रही और शाम को महाआरती के बाद हुए प्रसादी वितरण में हजारों लोगों ने इसका लाभ लिया।

भीषण गर्मी में भी कम नहीं हो रही आस्था

सलसलाई के थाना परिसर में महादेव के आगमन की तैयारी नगरवासी और पुलिसकर्मी पूरी आस्था के साथ कर रहे हैं। यहीं वजह है कि 43 डिग्री तापमान में भी भक्तों का जोश देखते ही बनता है। यहां सेवा देने वाले अलसुबह से आयोजन स्थल पहुंच जाते हैं, जो देर शाम तक तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं।

इनके आगे न गर्मी टिक पा रही है और न ही भूख-प्यास। यहीं वजह है कि उक्त आयोजन दिन-प्रतिदिन लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बनता जा रहा हैं और लोगों की यहां भीड़ बढ़ती ही जा रही है।

कल विराजेंगे महादेव

आयोजन के अंतिम पांचवे दिन प्राण-प्रतिष्ठा की जाएगी और आयोजन की पूर्णाहूति होगी। इस दिन दैनिक पूजन के बाद प्राण-प्रतिष्ठा, पूर्णाहूति और महाआरती का आयोजन होगा। वहीं रविवार को आयोजन के तहत भंडारे का आयोजन होगा।

जिसमें सलसलाई, अकोदिया, गुलाना, मंगलाज, मदाना सहित जिले भर के श्रद्धालू शामिल होकर महादेव के जयकारे लगाएंगे और प्रसादी का लाभ लेंगे। आयोजन समिति ने भी सभी श्रद्धालुओं से अधिक से अधिक संख्या में आकर महाप्रसादी ग्रहण कर धर्म का लाभ लेने का अनुरोध किया है।

खबरें और भी हैं...