शाजापुर में सास-बहू के बीच रोचक मुकाबला:पिता-पुत्र दोनों जुटे अपनी पत्नियों को सरपंच बनाने की दौड़ में

शाजापुर (उज्जैन)2 महीने पहले

शाजापुर जनपद पंचायत के ग्राम बाईहेड़ा में सरपंच पद के लिए सास-बहू के बीच रोचक मुकाबला है। सास बहू एक दूसरे के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं। पिता पुत्र दोनों अपनी पत्नी को सरपंच बनाने में जुटे हुए हैं। सास धापूबाई और बहू मांगूबाई के अलावा एक और प्रत्याशी कांताबाई भी चुनाव मैदान में हैं। यहां सरपंच पद पिछड़ा वर्ग महिला के लिए आरक्षित हैं। इस ग्राम पंचायत में 1500 से ज्यादा वोटर है, जो सास बहू और एक अन्य उम्मीदवार में से किसी एक को चुनेंगे। सास बहू के मुकाबले में यह देखना है मतदाता दोनों में से जीत का सेहरा किसे बांधते हैं या इन दोनों के मुकाबले में तीसरे प्रत्याशी को मौका देते हैं।

सास बहू की टक्कर, असल लड़ाई पिता पुत्र में

चुनावी मैदान में तो सास बहू है लेकिन प्रतिष्ठा पिता पुत्र की दांव पर लगी है, दोनों ही अपनी-अपनी पत्नियों को जीताने में लगे हुए हैं। एक ही मकान में पिता पुत्र दोनों अलग अलग रहते हैं और दोनों ही पत्नियों को आमने सामने चुनाव मैदान में उतारने के लिए अलग अलग कारण बता रहे हैं।

पुत्र कैलाश गोस्वामी ने बताया पत्नी को इसलिए चुनाव मैदान में उतारा क्योंकि मेरी माता बुजुर्ग और अशिक्षित हैं, इसलिए ग्रामीणों के कहने पर पत्नी को चुनाव लड़वा रहा हूं। गांव के विकास के लिए यह कदम उठाया। पिता ने कहा मैं पहले भी ढ़ाई साल सरपंच रहा हूं और मुझे गांव का विकास करना है। सास बहू का मुकाबला है, ईमानदारी की जीत होगी।

खबरें और भी हैं...