• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shajapur
  • Dhanteras, The Festival Of Joy, Will Be Celebrated In Tripushkar And Sarvartha Siddhi Yoga From Today

पांच दिवसीय दीप पर्व पर छाएगा उल्लास:उल्लास के पर्व दीपोत्सव की शुरुआत आज से त्रिपुष्कर व सर्वार्थ सिद्धि योग में मनेगी धनतेरस

शाजापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिपावली के चलते बाजार में काफी चहल-पहल रही। - Dainik Bhaskar
दिपावली के चलते बाजार में काफी चहल-पहल रही।

धनतेरस से दीपावली पर्व की शुरुआत हो जाती है। दीपावली 5 दिन तक चलने वाला महापर्व है। हिंदू पंचांग के अनुसार कार्तिक कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि पर दीपावली मनाई जाती है। इस बार दीपावली 5 दिन के बजाए 6 दिन मनाई जाएगी और दो दिन तक धनतेरस पर शुभ खरीदारी का संयोग बन रहा है। पंचांग के अनुसार दीपावली के पहले दिन धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है।

मान्यता है कि कार्तिक त्रयोदशी तिथि पर देवताओं के वैद्य भगवान धन्वंतरि समुद्र मंथन के दौरान स्वर्ण कलश के साथ प्रकट हुए थे। धनतेरस पर सोने-चांदी के सिक्के, आभूषण और बर्तन खरीदने की परंपरा है। धनतेरस के दिन खरीदी गई चीजों में सालभर 13 गुना वृद्धि होती है।

इस बार त्रयोदशी तिथि दो दिन होने से धनतेरस को लेकर ज्योतिष और पंडितों के बीच मतभेद है। त्रयोदशी तिथि शुक्रवार की शाम 6 बजकर 2 मिनट पर शुरू हो रही है और अगले दिन यानी शनिवार की शाम 6 बजकर 3 मिनट पर खत्म हो जाएगी। भगवान धन्वंतरि का जन्म मध्याह्न में हुआ था, इसलिए धन्वंतरि पूजन और धनतेरस की शुभ खरीदारी दोनों दिन की जा सकेगी।

धनतेरस पर गुरु और शनि का अद्भुत संयोग
धनतेरस पर धन के कारक गुरु और न्याय व स्थायित्व के कारक शनि स्वयं की राशि में रहेंगे। गुरु अपनी स्वयं की राशि मीन में और शनि मकर राशि में रहेंगे। इस बार धनतेरस पर त्रिपुष्कर और सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है। पंचांग के अनुसार अनुसार त्रिपुष्कर योग में शुभ कार्य करने पर उसमें तीन गुना सफलता हासिल होती है। जबकि सर्वार्थ सिद्धि योग को शुभ माना गया है, क्योंकि इसमें सभी सिद्धियों का वास होता है। सर्वार्थ सिद्धि योग पर राहुकाल का भी असर नहीं होता और खरीदारी करना शुभ फल देने वाला माना जाता है।

खबरें और भी हैं...