श्योपुर के लाल को दी विदाई:गुना में शिकारियों से मुठभेड़ शहीद संतराम का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

श्योपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

श्योपुर जिले के वीरपुर तहसील के गांव गौहर निवासी पुलिस जवान संतराम की गुना जिले में हत्या कर दी गई थी। शनिवार को गृहग्राम में जवान के शव का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

शुक्रवार-शनिवार की रात्रि में गुना जिले के जंगल में सूचना मिलने के बाद काले हिरण करने वाले शिकारियों ने उन पर हमला कर दिया था। इसमें एसआई राजकुमार जाटव, हवलदार संतराम मीणा और आरक्षक नीरज भार्गव की मौत हो गई। इनमें से हवलदार संतराम मीणा श्योपुर जिले के वीरपुर तहसील के गांव गौहर का निवासी हैं। संतराम के शहीद होने की सूचना मिली तो गांव में मातम पसर गया।

हवलदार संतराम।
हवलदार संतराम।

शनिवार शाम को शहीद संतराम का शव गांव में पहुंचा। राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। संतराम मीणा पांच भाई थे, जिनमें से दो भाई आर्मी में तैनात हैं। संतराम 2018 में पुलिस भर्ती में शामिल हुआ था और दो वर्ष पूर्व ही उसका विवाह कुल्होली गांव की वर्षा के साथ हुआ था। उसे एक बेटा भी है। शहीद हवलदार संतराम मीणा के अंतिम संस्कार में चंबल रेंज के एडीजी राजेश चावला, कलेक्टर शिवम वर्मा, एसपी आलोक कुमार सिंह, एसडीएम विजयपुर नीरज शर्मा, विधायक सीताराम आदिवासी सहित अफसर, नेताओं व ग्रामीणों ने दी श्रद्धांजलि दी।

गुना में 3 पुलिसवालों की गोली मारकर हत्या:काले हिरण मारकर ले जा रहे शिकारियों से जंगल में मुठभेड़, आरोपियों के घर पर चला बुलडोजर

गुना में पुलिसकर्मियों की हत्या... चश्मदीद सने कहा- जंगल में कदम रखते ही घेरकर बरसाईं गोलियां, संभलने का मौका नहीं मिला

संतराम की मौत की सूचना मिलने के बाद विलाप करती घर की महिलाएं।
संतराम की मौत की सूचना मिलने के बाद विलाप करती घर की महिलाएं।
घर में गमगीन बैठे परिजन।
घर में गमगीन बैठे परिजन।
खबरें और भी हैं...