कूनो में चीतों ने किया पहला शिकार:दो दिन पहले बड़े बाड़े में किया गया था शिफ्ट, नामीबिया से लाए गए हैं

श्योपुर3 महीने पहले

मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क के बड़े बाड़े में छोडे़ जाने के बाद अफ्रीकी चीतों ने खुद पहली बार शिकार किया। दोनों चीतों ने करीब 48 घंटे बाद एक चीतल का शिकार किया। कूनो नेशनल पार्क प्रबंधन ने सोमवार को इसकी जानकारी दी।

पार्क प्रबंधन ने बताया कि दोनों चीते स्वस्थ हैं। वे बड़े बाड़े में घूम रहे हैं। डीएफओ प्रकाश वर्मा ने बताया कि कॉलर आईडी, सीसीटीवी और ट्रैप कैमरों से टीम लगातार उन पर नजर रख रही है।

अफ्रीका के नामीबिया से 17 सितंबर को 8 चीते कूनो नेशनल पार्क लाए गए थे। PM नरेंद्र मोदी ने इन्हें छोटे बाड़े में छोड़ा था। यहां चीतों को क्वारंटाइन किया गया था। इसके करीब 50 दिन बाद शनिवार को दो नर चीतों को बड़े बाड़े में छोड़ा गया था। दोनों चीतों को बड़े बाड़े में छोड़ने से पहले चीता टास्क फोर्स की बैठक हुई। टास्क फोर्स के सदस्यों की सहमति के बाद चीतों को छोड़ा गया था।

खुद पेट भर सकेंगे चीते
डीएफओ वर्मा ने बताया कि, लंबे अरसे के बाद देश की धरती पर लाए गए चीतों ने पहली बार शिकार किया है। अब वह खुद पसंदीदा जानवर का शिकार करके खुद अपना पेट भर सकेंगे। छह अन्य चीतों को रिलीज करने का निर्णय चीता टास्क फोर्स करेगा। हमारी तैयारियां पूरी हैं।

यह भी पढ़ें

कूनो में दो बड़े बाड़े में छोड़ा, पीएम मोदी बोले -ग्रेट न्यूज

​​​​​​कूनो नेशनल पार्क में 8 में से 2 चीतों को बड़े बाड़े में छोड़ा गया। इन्हें नामीबिया से लाया गया है। पीएम मोदी ने अपने जन्मदिन 17 सितंबर को इन्हें कूनो पार्क में छोड़ा था। चीते 50 दिन से क्वारेंटाइन एरिया में थे। 6 चीते अभी भी क्वारेंटाइन एरिया में ही हैं। इन्हें बाद में छोड़ा जाएगा। चीतों को बड़े बाड़े में छोड़े जाने पर पीएम मोदी ने भी खुशी जताई है। उन्होंने इसका वीडियो शेयर करते हुए कहा कि मुझे यह जानकर खुशी हुई कि सभी चीते स्वस्थ हैं। पढ़ें पूरी खबर

PM नरेंद्र मोदी ने चीतों को बड़े बाड़े में छोड़ने का वीडियो ट्वीट कर खुशी जताई।
PM नरेंद्र मोदी ने चीतों को बड़े बाड़े में छोड़ने का वीडियो ट्वीट कर खुशी जताई।

शिकार के लिए जानवरों की व्यवस्था
दो नर चीतों को शनिवार शाम गेट नंबर 4 से बड़े बाड़े में छोड़ा गया। टास्क फोर्स ने कहा था कि चीतों को ज्यादा दिन छोटे बाड़े में रखना ठीक नहीं है। अब जल्द ही बाकी छह को भी छोड़ा जाएगा। DFO पीके वर्मा ने बताया कि अभी केवल नर चीतों को बड़े बाड़े में छोड़ा गया है, जहां इनके शिकार के लिए हिरन, चीतल जैसे छोटे जानवर मौजूद हैं। भारत लाने से पहले इन चीतों को 30 दिन नामीबिया में भी क्वारंटीन किया गया था। भारत में ये 50 दिन क्वारंटीन रहे। इस तरह अब 80 दिन बाद इन्हें बड़े बाड़े में शिकार करने का मौका मिलेगा।