न्यायालयीन प्रकरण होने से नहीं हो पा रही प्रतिनियुक्तियां:सभी जिलों में बीआरसीसी- एपीसी की नियुक्तियां शिवपुरी में अभी और करना होगा इंतजार

भौंती12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हाल ही में प्रदेश स्तर पर हुई बीआरसीसी व एपीसी की परीक्षा होने के बाद जारी नतीजों के बाद भी अभी अभ्यर्थियों को बीआरसीसी व एपीसी बनने और इंतजार करना होगा। इसकी वजह कोलारस, बदरवास व पिछोर के बीआरसीसी द्वारा न्यायालयीन प्रकरण प्रचलित किए जाना है। बहरहाल न्यायालय के आदेश की समीक्षा उपरांत ही नवीन प्रतिनियुक्ति पर ज्वॉइनिंग हो सकेगी। खास बात यह है कि प्रदेश के सभी जिलों में मेरिट के आधार पर चयनित हुए अभ्यर्थियों की नियुक्तियां लगभग हो चुकी हैं, लेकिन 3 माह से चल रही इस प्रक्रिया के तहत शिवपुरी जिले में अभी तक यह नियुक्तियां अधर में लटकी हुई हैं। जिला शिक्षा केंद्र के अधिकारियों की मानें तो अभी इन नियुक्तियों में 15 से 20 दिन का समय लग सकता है।

20 को होगी न्यायालयीन प्रकरणों की समीक्षा
जिला शिक्षा केंद्र के अधिकारियों की माने तो 20 सितंबर को नियुक्ति समिति की बैठक में न्यायालयीन प्रकरणों की समीक्षा की जाएगी। इसके बाद ही सभी ब्लॉकों में बीआरसीसी की नियुक्तियों को लेकर कोई फैसला लिया जाएगा। हालांकि कोलारस बदरवास और पिछोर सहित तीन जनपद शिक्षा केंद्रों को छोड़कर शेष पांच जनपद शिक्षा केंद्रों में बीआरसीसी और एपीसी की नियुक्ति अभी तक हो जानी थी लेकिन न्यायालयीन प्रकरण से डरी जिला स्तरीय समिति अभी तक इस संबंध में कोई निर्णय नहीं ले सकी है जिस वजह से किसी भी ब्लॉक में ना तो कोई भी बीआरसीसी की नियुक्ति हुई है और ना ही एपीसी की।

खबरें और भी हैं...