गन्ने के खेत में लगा दी आग:रेत माफियाओं ने किसान की कर दी पिटाई, खेत से नदी के ओर आने-जाने का रास्ता बनाने को लेकर बना रहे थे दबाव

करैरा9 दिन पहले

करैरा के सुनारी चौकी क्षेत्र में अवैध रेत का जबरदस्त उत्खनन रेत माफियाओं के ओर से किया जा रहा है। इसी के चलते नदी से अवैध रेत का उत्खनन कर परिवहन करने के लिए किसान के खेत से आने-जाने का रास्ता बनाने को रेत माफिया किसान पर दबाव बना रहे थे। जब किसान नहीं माना तो चारों रेत माफियाओं ने पहले तो किसान की मारपीट कर दी और उसके बाद गन्ने के खेत में आग लगा दी।

जानकारी के मुताबिक हाकिम सिंह रावत निवासी ग्राम जरगवांसानी ने पुलिस को बताया कि दोपहर की बात है, मैं अपने खेत पर था, उसी समय पास के गांव रौनीजा के कमलेश दुबे, महेश परिहार, पुष्पेन्द्र बुन्देला, करोडी बंशकार आकर बोले कि हमें तेरे खेत में से एक रास्ता नदी को जाने के लिए बनाना है।

मैंने कहा कि खेत में मेरी गन्ने की फसल खड़ी है, इसमें से रास्ता नहीं बनाने दूंगा। इसी बात पर चारों ने मुझे गालियां देते हुए मेरे साथ मारपीट कर दी। जब मुझे बचाने मेरी बेटी संध्या आई, तो महेश ने उसको भी लाठी मारी, जो दाहिने हाथ में लगी। उसके बाद चारों बोले कि इसके गन्ना की फसल में आग लगा दो।

कमलेश ने अपना ट्रेक्टर से गन्ने के खेत में चला दिया और करोडी ने माचिस जलाकर गन्ना में आग लगा दी। आग लगने से मेरी तकरीबन 1 लाख रुपए की फसल जल गई। शोर सुनकर कल्लू रावत, राममिलन रावत, सुघर सिंह पाल वहां आ गए।

उन्हें आता देख चारों ने धमकी देते हुए बोला कि अगर रास्ता बनाने से रोका, तो जाने से मार देंगे। साथ ही वहां से भाग गए। वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...