दो नदियों के बीच बने टापू पर फंसी 2 जिंदगी:देर रात SDRF की टीम ने रेस्क्यू कर निकाला सुरक्षित बाहर

शिवपुरीएक महीने पहले

शिवपुरी जिले के कोलारस थाना क्षेत्र अंतर्गत भड़ोता-रन्नोद मार्ग के बीच सिंध नदी में आए एकाएक उफान के चलते दो युवक सिंध नदी और गुंजारी नदी के बीच बने टापू पर फस गए। सुबह से फंसे दोनों युवकों को दोपहर के बाद टापू पर मदद मांगते हुए इशारे करते हुए देखा गया। इसकी सूचना कोलारस थाना पुलिस को दी गई मौके पर पहुंची कोलारस थाना पुलिस सहित कोलारस तहसीलदार ने मोर्चा संभालते हुए दोनों नदियों के बीच बने टापू पर फसे दोनों युवकों को बाहर निकालने के लिए एसडीआरएफ की टीम को सूचना दी मौके पर पहुंची एसडीआरएफ की टीम ने रात में ही दोनों युवकों को बचाने का रेस्क्यू अभियान चलाकर टापू पर फंसे दोनों युवकों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

सुबह से भूखे प्यासे फंसे थे टापू पर दो युवक, देर रात आई जान में जान

जानकारी के अनुसार कोलारस थाना क्षेत्र के भड़ोता चक्क के रहने वाले दो युवक नीलम और इंदर सिंह आज सुबह किसी काम से अपने गांव से राजापुर की ओर निकले थे इसी दौरान उन्होंने सिंध नदी के रपटे को जैसे तैसे पार कर लिया परंतु दूसरी ओर बने गुंजारी नदी के रपटे को अधिक पानी होने के चलते पार नहीं कर सके जब दोनों ने वापस घर लौटने की सोची तब तक बहुत देर हो चुकी थी सिंध नदी के रपटे पर भी पानी का बहाव तेज हो चुका था जिसके चलते ....

दोनों युवक सिंध नदी और गुंजारी नदी के बीच बने टापू पर फस कर रह गए जिन्हें आज दोपहर 4:00 बजे के लगभग सिंध नदी के मुहाने पर खड़े हुए ग्रामीणों ने देखा। ग्रामीणों को हाथ के इशारे से दोनों टापू पर फंसे युवकों ने मदद मांगने का प्रयास किया युवकों के इशारे को समझ ग्रामीणों ने इसकी सूचना तत्काल कोलारस थाना पुलिस को दी मौके पर पहुंची पुलिस थाना पुलिस सहित तहसीलदार दिलीप द्विवेदी ने तत्काल टापू पर फंसे दोनों युवकों की सूचना एसडीआरएफ की रेस्क्यू टीम को दी। सूचना देने तक शाम के 6:00 बज चुके थे आनन-फानन में शिवपुरी से एसडीआरएफ की रेस्क्यू टीम 7:00 बजे तक मौके पर पहुंच गई और टापू पर फंसे दोनों युवकों का रेस्क्यू शुरू कर दिया गया तेज बहाव के बीच बोट की मदद से आखिरकार दोनों युवकों को टापू से बाहर निकाल लिया गया।

पहले भी टापू पर फंस चुके लोग

कोलारस थाना क्षेत्र के भड़ोता गाँव के पास सिंध नदी और गुंजारी नदी के बीच बने इस टापू पर पहले भी कई घटनाएं ऐसी हो चुकी है जिसमें कई लोगों की अब तक जान आफत में आ चुकी है दरअसल इस मार्ग पर शिवपुरी जिले का सुप्रसिद्ध मंदिर रेशम माता का मंदिर स्थित भी है यहां दूरदराज लोग माता के दर्शन करने आते रहते हैं इसके बावजूद भी प्रशासन के द्वारा एहतियातन के तौर पर यहां कोई भी व्यवस्था नहीं की गई है।

खबरें और भी हैं...