धर्म सभा का आयोजन:मुनि प्रतीक सागर ने कहा तनाव रखने वाला तन और धन दोनों समाप्त करता है

शिवपुरी14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गणाचार्य पुष्पदंत सागर महाराज के सुयोग्य शिष्य क्रांतिवीर मुनि प्रतीक सागर महाराज का 12 वर्ष बाद धर्म नगरी शिवपुरी में मंगल आगमन होगा। चंदा प्रभु जिनालय अध्यक्ष सूरजमल जैन ने बताया कि 19 मई को प्रातः 7:00 मुनि श्री का मंगल प्रवेश एवं विराट धर्म सभा का आयोजन शिवपुरी में होगा। मुनि प्रतीक सागर महाराज की 15 मई की आहार चर्या लुकवासा में होगी।

14 मई को इंटरनेशनल स्कूल पहुंचकर शिवपुरी दिगंबर जैन समाज के प्रतिनिधि मंडल ने मुनि श्री से शिवपुरी नगर आगमन की प्रार्थना श्रीफल चढ़ाकर की। गन्ने के जिस भाग में गांठ होती है वहां मिठास नहीं होती है व्यक्ति की जिंदगी में अगर बैर कि गांठ हो तो जीवन का प्रेम और आनंद समाप्त हो जाता है। केवल तनाव और टेंशन जिंदगी में हमेशा तांडव करता है।

तनाव रखने वाला तन और धन दोनों समाप्त हो जाता है। तनाव बड़ी से बड़ी बीमारी का कारण है। इसलिए जिंदगी में धन का दान तो कोई भी कर सकता है। मगर क्षमा का दान करने वाला सबसे बड़ा दानी होता है। मुनि श्री ने इंटर नेशनल स्कूल में धर्म सभा को संबोधित करते हुए आगे कहा कि पारसनाथ कमट के जीव को हर गांव में माफ करते रहे और कमट का जीव पीडा देता रहा।

खबरें और भी हैं...