गांव में करेंगे पढ़ाई पूरी:अब गांव में ही हाईस्कूल की पढ़ाई पूरी कर पाएंगे ग्रामीण छात्र-छात्राएं

शिवपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आमतौर पर कक्षा 8वीं की पढ़ाई के बाद जिन गांव के विद्यार्थियों को या तो गांव छोड़ कर शहर आना पड़ता था या फिर गांव से सटी 20-25 किलोमीटर की सीमा में बने दूसरे गांव पहुंचकर कक्षा 10वीं की पढ़ाई करने मजबूर होना पड़ता था। लेकिन अब इन विद्यालयों के विद्यार्थियों को पढ़ाई करना आसान होगा। क्योंकि इनके गांव के माध्यमिक विद्यालयों को सरकार ने हाईस्कूल में उन्नयन कर दिया है। जिसके चलते अब यहां कक्षा 9 और 10 की पढ़ाई हो सकेगी।

दरअसल अब तक माध्यमिक विद्यालयों में कक्षा 8 की पढ़ाई करने के बाद बहुत सी छात्राएं ऐसी होती थीं जो गांव के बाहर दूसरी जगह स्कूल होने पर उनके अभिभावकों ने पढ़ने नहीं जाने देना चाहते थे। जबकि छात्राएं पढ़ाई करना चाहती थी, गांव के कुछ छात्रों की स्थिति भी यही थी। ऐसे में अब गांव में 13 माध्यमिक विद्यालयों का उन्नयन हाईस्कूल में हो जाने से इस बड़ी परेशानी का सामना अब गांव के बच्चों को नहीं करना पड़ेगा और उन्हें गांव में ही पढ़ाई के लिए कक्षाएं संचालित होंगी।

इन माध्यमिक विद्यालयों का हुआ हाईस्कूल में उन्नयन

शिक्षा विभाग द्वारा जो लिस्ट जारी की गई है उसके अनुसार शासकीय माध्यमिक विद्यालय पनानेर नरवर का नाम शामिल है। पौहरी के 3 विद्यालय माध्यमिक शाला से हाई स्कूल में उन्नयन हुए हैं इनमें शासकीय माध्यमिक विद्यालय कन्या बैराड़, शासकीय माध्यमिक विद्यालय सालोदा और शासकीय माध्यमिक विद्यालय केमई के नाम शामिल है।

जबकि शिवपुरी विकासखंड के 3 विद्यालय शासकीय माध्यमिक विद्यालय बिलोकला, शासकीय माध्यमिक विद्यालय करमाजकला, और शासकीय माध्यमिक विद्यालय गढ़ी बरोद शिवपुरी का नाम शामिल है। इसी तरह से खनियाधाना में तीन शासकीय माध्यमिक विद्यालय शेखपुरा, पूरा और अरावनी के नाम शामिल है। कोलारस में 02 शासकीय माध्यमिक विद्यालय कोटानाका और शासकीय माध्यमिक विद्यालय कांकर तथा बदरवास में शासकीय माध्यमिक विद्यालय बामोरखुर्द का नाम शामिल है।

खबरें और भी हैं...