दो दोस्तों ने आईटीआई छात्र को किया ब्लैकमेल:मैसेंजर पर भेजा अश्लील वीडियो, स्क्रीनशॉट लेकर मांगे 100 रुपए

शिवपुरी15 दिन पहले

शिवपुरी में मैसेंजर ऐप से अश्लील वीडियो भेज कर ब्लैकमेलिंग करने का मामला सामने आया है। ब्लैकमेलिंग में इस साजिश में दो दोस्तों ने ही अपने दोस्त को ब्लैकमेल कर लिया। ब्लैकमेलिंग का शिकार हुए युवक ने इसकी शिकायत फिजिकल थाने में दर्ज कराई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर दो युवकों को भी गिरफ्तार किया है।

हाउसिंग बोर्ड कालोनी के रहने वाले युवक ने अपने साथ हुई ब्लैकमेलिंग की घटना की शिकायत फिजिकल थाना में पहुंचकर दर्ज कराई है। पीड़ित युवक ने बताया कि उसके वॉट्सऐप मैसेंजर पर अनजान नंबर से हेलो लिखा हुआ मैसेज आया था। उसने हेलो का जवाब दिया तो मेरे मैसेंजर पर अश्लील वीडियो भेज दिए। इस वीडियो को देखा तो कुछ देर बाद ही मैसेंजर पर एक मेरा अश्लील वीडियो देखने का फोटो आ गया। इसके बाद कुछ देर बाद उसके मोबाइल नंबर पर एक फोन आया, जिसमें ब्लैकमेलर ने फोटो वायरल करने की धमकी दी और पैसों की मांग की। पीड़ित युवक ने पुलिस को बताया कि ब्लैकमेलर ने उससे 100 रुपए की मांग की थी, तो उसने ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कर दिया था।

दोस्त को अश्लील वीडियो भेज किया ब्लैकमेल
शिकायत के बाद फिजिकल थाना प्रभारी कृपाल सिंह राठौड़ ने साइबर सेल की मदद से सिद्धेश्वर कालोनी में किराए पर रह रहे गोलू (18) और आंनद (19) को गिरफ्तार किया। पुलिस पड़ताल में दोनों आरोपियों ने बताया कि वह करैरा के सिरसौद गांव के रहने वाले हैं और यहां किराए का कमरा लेकर आईटीआई की पढ़ाई कर रहे हैं। थाना प्रभारी कृपाल सिंह राठौड़ ने बताया कि दोनों आरोपी युवक और पीड़ित युवक एक साथ आईटीआई कर रहे थे। दोनों आरोपी दोस्त ने अपने ही क्लासमेट के साथ ब्लैकमेलिंग की घटना को अंजाम दिया है। दोनों आरोपियों से पूछताछ जारी है। ब्लैकमेलिंग के इस मामले में ओर लोगों के भी जुड़े होने की संभावना है।

ज्यादा रुपए ना मांगना थी खासियत
पहले अश्लील वीडियो भेजना फिर वीडियो देखते का फोटो खीचना इसके बाद इसी फोटो की मदद से ब्लैकमेलिंग की साजिश रची जाती है। पुलिस पड़ताल में सामने आया कि ये दोनों आरोपी गागा एप के जरिए लोगों को ब्लैकमेल करते थे। जानकारी के अनुसार दोनों आरोपी अब तक आधा सैकडा लोगों को अपना निशाना बना चुके हैं। इन दोनों की खास बात कि यह ब्लैकमेल करने पर ज्यादा रुपए नहीं मांगते थे, जिससे पीड़ित इन आरोपियों को रुपए भी दे देते थे। इन दोनों ब्लैकमेलरों के बैंक खाते में हजारों रुपए होने की पुष्टि हुई है।

...

खबरें और भी हैं...