• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Shivpuri
  • Tension In Badokhara Due To Murder Of Village Employment Assistant 35 Hours Before Polling, Brother's Allegation Killed Due To Election

चुनाव से पहले हिंसा:मतदान से 35 घंटे पहले ग्राम रोजगार सहायक की हत्या से बडोखरा में तनाव, भाई का आरोप- चुनाव के कारण मारा

शिवपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बदरवास जनपद क्षेत्र में शनिवार को सुबह 7 बजे से मतदान होगा। इससे ठीक 35 घंटे पहले गुरुवार की रात 8 बजे क्षेत्र की बडोखरा पंचायत में चार आरोपियों ने मिलकर ग्राम रोजगार सहायक लाखन सिंह जाट उर्फ रिंकू की हत्या कर दी। इस हत्या के बाद गांव में तनाव की स्थिति है।

मृतक के चाचा ने एफआईआर में हत्या का कारण एक आरोपी का प्रधानमंत्री आवास योजना की सूची से नाम काटना बताया है। वहीं मृतक के भाई का आरोप है कि चुनाव के कारण उनके भाई की हत्या की गई है। ऐसे में शनिवार को गांव में मतदान के दौरान भी विवाद की आशंका बढ़ गई है।

हालांकि प्रशासन का कहना है कि शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव के लिए पूरी तैयारी है। ग्राम रोजगार सहायक रिंकू उर्फ लाखन सिंह (35) पुत्र स्व. बहादुर सिंह जाट निवासी सेमरी हाल निवास रिजौदी रोड बदरवास की हत्या के बाद शुक्रवार को अंत्येष्टि कर दी गई।

मृतक के भाई नरेंद्र जाट का कहना है कि पंचायत चुनाव में दो पक्ष हैं। एक पक्ष घनश्याम सिंह राजपूत की प्रत्याशी पत्नी की तरफ है और दूसरा पक्ष गुलाब सिंह धाकड़ की प्रत्याशी पत्नी की तरफ है। वोट के लिए उनके परिवार पर भी दबाव बनाने की कोशिश की जा रही थी।

उनके परिवार में 80 वोट हैं। उनका परिवार एक पक्ष के साथ है। ऐसे में दूसरे पक्ष से जुड़े आरोपियों ने उनके भाई की हत्या कर दी और कारण आवास योजना की सूची में नाम काटना बताया दिया। वहीं मृतक के चाचा सतीश (25) पुत्र अर्जुन सिंह जाट निवासी ग्राम सेमरी बुजुर्ग ने पुलिस थाने में हत्या की जो रिपोर्ट दर्ज कराई, उसमें चुनाव का काेई जिक्र ही नहीं किया।

सतीश ने हत्या का कारण आरोपी धर्मेंद्र का आवास योजना की सूची से नाम काटना बताया है। पुलिस ने चारों आरोपियों धर्मेंद्र धाकड़, कप्तान सिंह धाकड़, संजीव धाकड़ एवं विजय सिंह उर्फ लल्लू के खिलाफ केस दर्ज कर मामला विवेचना में लिया है।

राेजगार सहायक के भाई ने हत्या को चुनाव से जोड़ा लेकिन चाचा ने एफआईआर में आवास सूची से नाम काटने का कारण बताया, चुनाव का जिक्र नहीं

आरोपी की चचेरी बहन है सरपंच प्रत्याशी

बडोखरा निवासी सरजू बाई धाकड़ पत्नी गुलाबसिंह सरपंच प्रत्याशी हैं। आरोपी विजय सिंह उर्फ लल्लू धाकड़ की प्रत्याशी सरजू बाई चचेरी बहन है। चारों आरोपी सेमरी गांव के रहने वाले हैं। प्रत्याशी सरजू बाई का मायका सेमरी गांव है और चारों आरोपी भी सेमरी गांव के हैं। सेमरी गांव, बडोखरा ग्राम पंचायत में शामिल है। प्रत्याशी के मायके पक्ष के चारों आरोपी परिवार के सदस्य हैं।

बता दें कि आरोपी धर्मेंद्र धाकड़ का तीन-चार साल पहले प्रधानमंत्री आवास सूची में नाम दर्ज था। लेकिन सूची से नाम हट गया था। एफआईआर में आवास सूची से नाम कटने का जिक्र है, इसलिए पुलिस और प्रशासन द्वारा इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया है।

जल्दबाजी में चुनावी रंजिश का उल्लेख नहीं हो पाया
सुबह चुनाव के चलते थाने में पुलिस बल अधिक था। हम भी रात भर से जागे हुए थे। जल्दबाजी में एफआईआर दर्ज कराते वक्त चुनावी रंजिश का उल्लेख नहीं हो पाया।
नरेंद्र जाट, मृतक का भाई

हत्या की वजह क्या रही, यह जांच में पता चलेगा
फिलहाल हत्या का कारण आवास योजना से नाम कटना बताया गया है। इसके अनुसार चार आरोपियों पर एफआईआर दर्ज कर ली है। हत्या की कोई दूसरी वजह है तो यह विवेचना में पता चलेगा।
गिरधारी परिहार, एएसआई, बदरवास

बडोखरा में मतदान आज, दो प्रत्याशियों में कड़ा मुकाबला

बडोखरा गांव में सरपंच पद के लिए आठ प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इनमें से समाज विशेष के दो प्रत्याशियों के बीच मुकाबला कड़ा बताया जा रहा है। बडोखरा पंचायत सहित बदरवास जनपद क्षेत्र में शनिवार को मतदान होना है। बता दें कि मृतक रोजगार सहायक की भी चुनाव में ड्यूटी लगी थी।

गांव में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करेंगे
रोजगार सहायक की मौत के मामले में चुनावी रंजिश के चलते हत्या की सूचना नहीं है। यदि ऐसा है तो वहां अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करेंगे, ताकि वहां झगड़े जैसी स्थिति ना रहे।
प्रदीप भार्गव, रिटर्निंग ऑफिसर एवं तहसीलदार बदरवास

खबरें और भी हैं...