जिम्मेदार नहीं उठा रहे कदम:झोलाछाप डॉक्टर खुलेआम बांट रहे मौत, क्षेत्र में जांच के लिए नहीं है पैथोलॉजी लैब

सीधी10 दिन पहले

सीधी जिले में इन दिनों झोलाछाप डॉक्टर अपनी दुकान लगाए बैठे हैं और जिम्मेदार कोई भी ठोस कदम नहीं उठा रहे हैं। मामला सीधी जिले के सिहावल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र क्षेत्र के हटवा बरहा टोला बाजार का है। जहां पर 1-2 नहीं बल्कि 5-6 की संख्या में झोलाछाप डॉक्टर अवैध रूप से बिना किसी डिग्री डिप्लोमा के दवाई दे रहे हैं।

बिना जांच के देते हैं दवा

हटवा बरहा टोला के सभी झोलाछाप डॉक्टर बिना किसी जांच परख के भगवान भरोसे दवाई कर रहे हैं। क्षेत्र में एक भी पैथोलॉजी लैब नहीं है। जिससे कि मरीजों की सही तरीके से जांच हो सके। वहीं अंदाज बस मरीज की हालत को देखकर यह झोलाछाप डॉक्टर दवाई कर रहे हैं।

एक बनारस से आए हुए झोलाछाप प्रदीप बिंद हटवा बरहा टोला बाजार में अपनी दुकान से जाकर बैठे हैं। ना तो उनके क्लीनिक के सामने किसी भी प्रकार का बोर्ड लगा हुआ है। ना ही किस नाम से उनके क्लीन संचालित है यह किसी को पता नहीं है।

क्षेत्र के दबंग व्यक्तियों में बनाते हैं अपनी पकड़

जितने भी झोलाछाप डॉक्टर होते हैं वह जहां पर अपनी दुकान सजा कर बैठते हैं। वहां के एक स्थानीय दबंग व्यक्ति को पकड़कर अपने साथ में रखते हैं। जिससे कि किसी भी समय पर अगर कोई अधिकारी या विभागीय कर्मचारी उन पर कोई कार्रवाई ना कर सकें।

सरपंच का मिला आश्रय

झोलाछाप डॉक्टर प्रदीप बिंद ने बताया है कि हम यहां पर हटवा बरहा टोला के सरपंच अजय पटेल की सरपरस्ती में है। हमारा कोई कुछ भी नहीं कर सकता है सभी अधिकारी, कर्मचारी हमारी जेब में है और यहां तक कि सिहावल से लेकर सीधी तक हमारा पैसा जाता है ।

खबरें और भी हैं...