• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sidhi
  • Monitoring Of Vehicles Continues With CCTV Cameras, VDP Portal Is Caught When Vehicles Come In Front Of The Camera.

बेहद खास हैं ये कैमरे:सीसीटीवी कैमरों से वाहनों की निगरानी जारी, वीडीपी पोर्टल से कैमरे के सामने वाहनों के आते ही पकड़ में आती है गड़बड़ी

सीधी14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में पुलिस के ओर से वीडीपी पोर्टल के माध्यम से सीसीटीवी कैमरों से वाहनों की कड़ी निगरानी की जा रही है। शहर के प्रमुख चौराहों में ये व्यवस्था पिछले महीने शुरू की गई थी। इसके बाद से चौराहों से गुजरने वाले सभी वाहनों की विशेष सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से निगरानी शुरू हो चुकी है।

यहां से गुजरने वाले वाहनों के रजिस्ट्रेशन नंबर के माध्यम से वीडीपी पोर्टल पूरा डाटा एकत्रित कर रहा है। जो आने वाले समय में वाहन मालिकों के लिए लापरवाही पर कड़ा शिकंजा भी कस जाएगा।

बता दें कि मध्यप्रदेश पुलिस के ओर से शुरू की गई सीसीटीवी सर्वलेन्स योजना में प्रदेश भर के विभिन्न महत्वपूर्ण चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों से सभी संबंधित जिला पुलिस कंट्रोल रूम के ओर से सतत निगरानी की जाती है।

निगरानी के उद्देश्य से वर्ष 2019 में वीडीपी पोर्टल व्हीकल डिटेक्शन पोर्टल का उपयोग प्रारंभ किया गया। वीडीपी पोर्टल एक वेब आधारित एप्लीकेशन है, जिसे एएनपीआर ऑटोमैटिक न बार प्लेमट रिकग्निशन कैमरा के डेटा को स्टोर करने के लिए डिजाइन किया गया है।

मध्यप्रदेश में 1569 एएनपीआर कैमरे प्रदेश की अलग-अलग 293 लोकेशन पर स्थापित किए गए हैं। एएनपीआर कैमरा मुख्यत: शहर के एंट्री व एक्सिट स्थानों पर और शहर के मुख्य चौराहों पर लगे हैं। एएनपीआर कैमरे वाहनों की नंबर प्लेट रीड करने में सक्षम होते हैं।

वीडीपी पोर्टल मध्यप्रदेश पुलिस की स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के पोर्टल सीसीटीएनएस में दर्ज चोरी के वाहनों का डाटा लेकर एएनपीआर कैमरे के सामने से गुजरने वाले वाहनों की पहचान कर एक अलर्ट जारी करता है।

साथ ही संबंधित थाना प्रभारी व जिले के अन्य अधिकारियों को एसएमएस के ओर से सूचित करता है। जिसपर त्वरित कार्रवाई कर चोरी के वाहनों को पकड़ने में सुविधा होती है। संदिग्ध वाहनों की सूचना होने पर उस वाहन का अर्लट तैयार किया जाता है, जो कि एएनपीआर कैमरों के सामने से गुजरने पर संबंधित को एसएमएस के ओर से सूचित करता है।

पोर्टल के मध्यम से किस-किस लोकेशन से वाहन गुजरा है, उसकी हिस्ट्री देखी जा सकती है। यदि कोई वाहन चोरी हो जाता है और उसकी एफआईआर हो जाती है तो उसकी सूची इस पेज पर दिखाई देगी और जब भी मध्य प्रदेश के किसी भी एएनपीआर कैमरे में चोरी का वाहन नजर आता है, तो संबंधित थाना प्रभारी व जिले के अन्य अधिकारियों को एसएमएस के द्वारा सूचित करता है।

17 अक्टूबर 2019 से अभी तक व्हीडीपी पोर्टल के माध्यम से संदिग्ध वाहन व चोरी के वाहनों के कुल 5491 अलर्ट जनरेट हुए हैं। पुलिस अधिकारी इस वीडीपी पोर्टल पर चोरी के वाहनों की सूची भी देख सकते हैं।

शहर के विभिन्न चैराहों पर तैनात ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी व कर्मचारियों को एक लिंक प्रदान की गई है, जिसके माध्यम से उनके ओर से स्पॉट पर ही संदिग्ध वाहन की पहचान की जा सकती है। ये नया सिस्टम पुलिस के ओर से वाहनों पर नजर रखने के लिए तैयार कर लागू किया गया है।

खबरें और भी हैं...