• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sidhi
  • Tiger Was Caught After More Than 3 Hours Of Rescue In Sidhi District, Doctors Also Did Checkup

मुकुंदपुर से लाया गया बाघ:सीधी जिले में 3 घंटे से अधिक रेस्क्यू के बाद बाघ को पकड़ा था, डॉक्टरों ने चेकअप भी किया

सीधीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीधी जिले के संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के वस्तुआ रेंज अंतर्गत जामडोल बीट क्रमांक 221 में बीते सोमवार की शाम करीब 7:30 बजे एक नर बाघ को छोड़ा गया है जिसकी उम्र तकरीबन 3 साल है। बाघ को छोड़ने के पहले डॉक्टरों द्वारा उसका चेकअप भी किया गया है।

जंगल में जाता बाघ।
जंगल में जाता बाघ।

3 घंटे रेस्क्यू के बाद पकड़ा गया बाघ

संजय टाइगर रिजर्व द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि बीते दिनों मुकुंदपुर रेंज में जब इस बाघ के पग चिह्न मिले थे। उस दौरान वहां स्वच्छंद विचरण करते वक्त इस बाघ की दहाड़ से मुकुंदपुर क्षेत्र के ग्रामीणों में कई दिनों तक लगातार दहशत का माहौल था। जिसे लेकर वन विभाग सतना की लगातार निगरानी के बाद 3 घंटे से अधिक रेस्क्यू के बाद इसे पकड़ा जा सका था।

इसके बाद ऐसे रिजर्व क्षेत्र की तलाश की गई जहां बाघ के लिए पर्याप्त शिकार के लिए जंगली जीव-जंतु मिल सकें। ऐसे में संजय टाइगर रिजर्व के वस्तुआ रेंज को चुना गया है।

पगचिन्ह से की जाएगी निगरानी

जंगल में स्वच्छंद विचरण कर रहे इस नए नर बाघ की निगरानी उसके पग चिह्नों से की जाएगी। दरअसल अभी इस बाघ को कॉलर आईडी नहीं लगाई गई है। इस बाघ को छोड़े जाने के बाद सोमवार को जामडोल बीट के पूर्वी इलाके में इसके पग चिह्न देखने को भी मिले हैं।

वहीं संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र में बाघों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। संजय टाइगर रिजर्व में 25 से अधिक बाघों की संख्या हो गई है, जिसमें फीमेल और शावक भी शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...