सिंगरौली में रोजगार मांगने पर मिली पिटाई; VIDEO:एनसीएल के लिए अधिग्रहित जमीन के विस्थापितों को ठेका कंपनी के गुर्गों ने पीटा

सिंगरौली19 दिन पहले

सिंगरौली जिले में रोजगार मांगने गए युवाओं की कंपनी के गुर्गों ने मारपीट कर दी। ये सभी युवा कोल इंडिया की महारत्न कंपनी नॉर्दन काेलफील्ड लिमिटेड (एनसीएल​​​​​) के लिए अधिग्रहीत की गई जमीन से विस्थापित हैं। युवकों की मारपीट करने का वीडियो भी सामने आया है। इसमें कुछ लोग युवकों की मारपीट करते नजर आ रहे हैं। इसमें कुछ पुलिसकर्मी बीचबचाव करते नजर आ रहे हैं।

नॉर्दन काेलफील्ड लिमिटेड ने सिंगरौली के महरौली क्षेत्र की जमीन अधिग्रहित की है। करीब एक साल से यह प्रक्रिया चल रही है। इसमें कुछ लोगों को मुआवजा मिल गया है। रविवार को ​​​​​​करीब 50 युवा एनसीएल जयंत प्रोजेक्ट में आउटसोर्सिंग तौर पर बीपीआर कंपनी काम कर रही है। मोरवा थाना क्षेत्र के जयंत कोल खदान से नौकरी से हटाए जाने के बाद रविवार को जिले के बेरोजगार युवाओं ने फिर से नौकरी मांगने गए थे।

युवाओं से मारपीट करते कंपनी के कर्मचारी।
युवाओं से मारपीट करते कंपनी के कर्मचारी।
नौकरी मांगने गए युवाओं और कंपनी के कर्मचारियों में मारपीट हुई।
नौकरी मांगने गए युवाओं और कंपनी के कर्मचारियों में मारपीट हुई।

चार माह बाद फिर नौकरी मांगने गए तो पीटा

युवाओं ने बताया कि चार माह पहले नौकरी से हटाए जाने के बाद उन्होंने जिला प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा था। जिला प्रशासन ने उन्हें आश्वासन दिया, कि उन्हें नौकरी पर वापस रखवाया जाएगा। चार माह का वक्त गुजर गया। कंपनी अब उन्हें नौकरी देने से साफ इंकार कर रही है। युवा कंपनी के गेट का घेराव कर रहे थे, इसी बीच कंपनी के कुछ कर्मचारियों ने उन्हें खदेड़ दिया। विरोध करने पर उनकी मारपीट कर दी।

नौकरी मांगने का तरीका गलत

इस मामले में कंपनी के प्रबंधक वीएस नायर ने कहा कि युवा रोजगार मांगने के लिए आए हुए थे। दोनों पक्षों के तरफ से मारपीट हुई है। उनका ये तरीका सही नहीं था, उन्हें एनसीएल प्रबंधन से बात करनी चाहिए थी। हम लोग एनसीएल के ठेकेदार हैं। एसडीओपी राजीव पाठक ने बताया कि दो पक्षों में मारपीट हुई है। घटना की शिकायत अभी नहीं मिला है, शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...